मोदी लहर में रहा-महाराजा भी हारे, पिता-पुत्र की जोड़ी ने बचाई लाज

भोपाल।   मध्यप्रदेश की 29 लोकसभा सीटों में से सभी के नतीजे घोषित हो चुके हैं। भाजपा प्रत्याशियों ने 28 सीटों पर जीत दर्ज कर ली है। भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह और गुना से ज्योतिरादित्य सिंधिया हार गए। कांग्रेस के खाते में केवल छिंदवाड़ा सीट गई है। यहां पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ ने जीत हासिल की। 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को 27 सीट मिलीं थी। छिंदवाड़ा विधानसभा के उपचुनाव में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जीत दर्ज की है। 


मोदी लहर में राजा-महाराज हारे

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के दिग्गज नेता हार गए । देश की राजनीति में अजय माने जाने वाले सिंधिया परिवार को पहली बार हार का सामना करना पड़ा| सिंधिया सवा लाख वोटों से केपी यादव से चुनाव हार गए| ग्वालियर-चंबल संभाग में यह कांग्रेस को तगड़ा झटका है। सिंधिया ग्वालियर रियासत के महाराज हैं। इसी तरह दिग्विजय सिंह की हार को भी राजगढ़ रियासत की हार से जोड़कर देखा जा रहा है। क्योंकि दिग्विजय सिंह अपनी रियासत के राजा हैं। कांग्रेस में सिंधिया-दिग्विजय की जोड़ी को महाराजा-राजा के नाम से जाना जाता है। भोपाल और राजगढ़ में हार से दिग्विजय तो वहीं गुना समेत ग्वालियर चम्बल की चारों सीटों पर हार का ठीकरा सिंधिया के सिर होगा| 

"To get the latest news update download the app"