MP में रिश्वत के 2 मामले, जिला अभियोजन अधिकारी और राजस्व निरीक्षक रंगेहाथों धराए

सागर/नीमच।

मध्यप्रदेश के सागर और नीमच जिले में लोकायुक्त ने दो बड़ी कार्रवाई की है। सागर में जहां टीम ने जिले राजस्व निरीक्षक को 4 हजार की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है ,वही नीमच में जिला अभियोजन अधिकारी को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा है। दोनों आरोपियों के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है। दोनों कार्रवाई के बाद हड़ंकप मचा हुआ है।

दरअसल, पहला मामला सागर के सुरई तहसील का है। जहां लोकायुक्त पुलिस की टीम ने आज बुधवार सुबह खुरई तहसील के राजस्व निरीक्षक नरेंद्र मार्को को चार हजार रुपयो की घूस लेते रंगे हांथो गिरफ्तार किया है।  लोकायुक्त पुलिस  ने इस कार्यवाही को तहसील परिसर के बाहर बने तहसील मार्केट में अंजाम दिया । लोकायुक्त पुलिस के दस्ते के प्रभारी ने बताया कि खुरई निवासी आवेदक रजा मोहम्मद खान से आरोपी उसकी जमीन के नामांतरण के एवज में यह रिश्वत की मांग रहा था जिसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस से की गई थी शिकायत की तस्दीक कर यह कार्यवाही की गई है 

दूसरा मामला नीमच जिले का है। जहां उज्जैन लोकायुक्त पुलिस की टीम ने नीमच कोर्ट परिसर में जिला अभियोजन अधिकारी को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा है।यह कार्रवाई फरियादी राजेंद्र गोलिया की शिकायत पर की गई है।  आरोप है कि जिला अभियोजन अधिकारी आरआर चौधरी ने केस की पैरवी सुचारू चलने देने और जल्दी अभियोजन साक्ष्य कराने के लिए 25 हजार रुपए की मांग की थी। टीम ने शिकायत के आधार पर आज अधिकारी को रंगेहाथों दबोचने का प्लान बनाया।जैसे ही फरियादी ने अधिकारी को रिश्वत की पहली किश्त 10 हजार रुपए दिए वैसे ही टीम ने  उसे रंगेहाथों पकड़ लिया। कार्रवाई के दौरान अधिकारी घबरा गया और टीम के सामने गिड़गिड़ाने लगा। फिलहाल टीम ने भ्रष्टाटार अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।


"To get the latest news update download the app"