MP: बीच नदी में फंसी बस तो छोड़ भागे ड्राइवर-कंडक्टर, केरोसीन टैंकर समेत 3 युवक बहे

भोपाल।

मध्यप्रदेश मे भारी बारिश का दौर लगातार जारी है। नदी-नाले उफान पर है और कई जगहों पर बाढ़ जैसे हालत बने हुए है, कई मार्गों का संपर्क टूट गया है, यातायात बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। इसी बीच प्रदेश के अलग अलग हिस्सों से हादसों की खबर आ रही है। ताजा मामला मंडला से सामने आया है, यहां पुल पार करते समय दो व्यक्ति बह गए। वही शहडोल में एक चालक केरोसिन टैंकर समेत बह गया।

मामला  मंडला के पुलिस चौकी चाबी इलाके का है। लगातार यहां बारिश का सिलसिला जारी है।  भारी बारिश के चलते मंडला-डिंडौरी मार्ग पर जाम लगा हुआ है, बाढ़ का पानी  पुल के ऊपर से बह रहा है । बढ़ते जलस्तर के चलते आज सुबह गुरुवार को पुल को पार करते समय दो व्यक्ति तेज धार से बह गए।सूचना मिलते ही स्थानीय ग्रामीण मौके पर पहुंचे और एक व्यक्ति को नाले से सुरक्षित निकाला।हालांकि दूसरे व्यक्ति को बचाने में नाकामयाब रहे, वह अब तक लापता है।बताया जा रहा है कि हादसा उफनते नाले को जान जोखिम में डालकर पार करने के दौरान हुआ। पुलिस युवक की तलाश कर रही है।

बस फंसी, चालक समेत ट्रक बहा

वही इंदौर से बीना होकर टीकमगढ़ जा रही एक यात्री बस खुरई-बीना मालथौन हाईवे पर बीच नदी की धार में फंस गई। ड्राइवर और कंडक्टर बस छोड़ कर भाग गए। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने रस्सियों और ग्रामीणों की सहायता से बस को खींच कर बाहर निकाला। सभी यात्री सुरक्षित हैं।शहडोल जिले के जैतपुर थाने के बोकरामार गांव के पास कछेड नाले के रपटे में केरोसिन से भरा एक टैंकर बरसाती नाले के तेज बहाव में बह गया है। टैंकर के साथ चालक भी बह गया, जिसका अब तक पता नहीं चल सका है। सुबह शहडोल से पहुंचे गोताखोर चालक की तलाश कर रहे हैं, किन्तु उसका पता नहीं चल सका है।

गुना में भी हालत बिगड़े

इधर गुना में भी 48 घंटे की भारी बारिश के चलते जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। कई इलाकों से संपर्क टूटा गया है। तेज बारिश के चलते नदियों के पुल के ऊपर पानी भर गया है, जिससे आवागमन प्रभावित हो रहा है।वही मक्सूदनगढ़ से भोपाल, मक्सूदनगढ़ और रोड फतेहगढ़ से राजस्थान का सम्पर्क टूट गया है। जल स्तर बढ़ने के कारण गोपी कृष्ण सागर बांध के चार गेट खोले गए हैं। वहीं पानी के तेज बहाब के बीच यात्री भी फंसे हुए हैं।

बांधों के गेट खुले

मंदसौर रेतम बैराज के 22, काका गाडगिल के आठ और बैतूल में तवा डैम के नौ गेट खोल दिए गए। सतपुड़ा बांध का एक, विदिशा रेहटी का एक, बर्घरू बांध के दो और अशोकनगर के राजघाट बांध के 16 गेट खोले गए।भोपाल के भदाभदा के भी चार गेट खोले गए है।

40 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी 

मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों के दौरान प्रदेश में 40 जिलों में कहीं कहीं भारी बारिश होने की चेतावनी दी है। इन जिलों में भोपाल, रायसेन, राजगढ़ विदिशा, सीहोर, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, नीचम, मंदसौर, रतलाम, उज्जैन, आगर, शाजापुर, देवास, गुना, शिवपुरी, अशोकनगर, श्योपुर, इंदौर, धार, खंडवा, छतरपुर, सागर, दमोह, टीकमगढ, छिंदवाड़ा, जबलपुर, कटनी, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, उमरिया, अनूपपुर, डिंडोरी, सतना, ग्वालियर, दतिया, भिंड और मुरैना जिलों में कुछ स्थानों पर भारी तथा कहीं कहीं अति भारी बारिश हो सकती है।



"To get the latest news update download the app"