एमपी में कर्ज से परेशान होकर किसान ने ट्रेन से कटकर दी जान

सागर।

मध्यप्रदेश में किसानों की आत्महत्या का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है।आए दिन किसान कर्ज से परेशान होकर खुदकुशी करने को मजबूर हो रहे है। ताजा मामला सागर से सामने आया है । यहां एक किसान ने कर्ज से परेशान होकर ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली है। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है। वही घटना के बाद से ही प्रदेश में हड़कंप मच गया है।

मिली जानकारी के अनुसार, मामला छापरी तहसील बंडा का है। यहां किसान गोपाल सिंह दांगी ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली है। बताया जा रहा है। किसान पर पांच लाख रुपए का कर्ज था। वह बैंक की नोटिस से परेशान हो गया था, जिसके बाद उसने यह कदम उठाया। गोविन्द सिंह की आठ एकड़ जमीन है उस पर कर्रापुर कस्बे स्थित SBI बैंक  और इलाहाबाद बैंक का 5 लाख का कर्जा था।मृतक के बेटे ने आरोप लगाया है की हमारे पिता जी को बार-बार बैंक से बुलावे आ रहे थे जिसके कारण उन्होंने आत्महत्या कर ली। मृतक के बेटे का कहना है कि उन्हें उम्मीद थी कि कर्जमाफी का कुछ फायदा उन्हें भी मिलेगा, लेकिन उनका 1 रुपए का भी त्रृण माफ नही हुआ।

बता दे कि सत्ता में आने से पहले कांग्रेस ने किसानों का दो लाख का कर्जा माफ करने की बात कही थी और मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनते ही कमलनाथ ने सबसे पहले किसानों की कर्जमाफी की फाइल पर साइन किए थे। सरकार का दावा है कि अबतक प्रदेश के 22  लाख किसानों का कर्जा माफ हो चुका है और आगे की प्रक्रिया जारी है, लेकिन आए दिन किसानों की आत्महत्या के मामले कही ना कही सरकार के दावों की पोल खोल रहे है। इसको लेकर हाल ही विधानसभा में भी हंगामा हुआ था।वही जानकारी निकलकर सामने आई थी कि पिछले छह महिनों में प्रदेश के 71  किसानों ने आत्महत्या की है।

"To get the latest news update download the app"