पूर्व सरपंच को पकड़ना एसआई को पड़ा महंगा, SP ने किया लाइन अटैच

मंदसौर

मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में एसपी ने एसआई को लाइन अटैच कर दिया है। बताया जा रहा है कि यह कार्रवाई बुधवार रात डोडाचूरा तस्करी के मामले में पूर्व सरपंच सहित तीन लोगों को गिरफ्तार करने के बाद की गई है। एसआई ने आरोप लगाया यह  मामला रफा-दफा करने के लिए भाजपा कार्यकर्ता ने मुझ पर दबाव बनाया था और रुपए देने की पेशकश की थी, लेकिन मेरे मना करने के बाद मुझे लाइन अटैच करवा दिया। वही एसपी कार्रवाई से पहले ही शिकायत पर एसआई को लाइन अटैच करने का दावा कर रहे हैं।

दरअसल, बुधवार को सिटी कोतवाली पुलिस ने एक ट्रक (एमपी 14 एचबी1129) से 2 क्विंटल 50 किलो डोडाचूरा बरामद किया था। इसी के साथ एक एस यूवी कार भी जब्त की थी । इसमें सवार अमृतपुरा थाना सटालिया जिला राजगढ़ निवासी सुमेरसिंह (22), ट्रक चालक राजाखेड़ी पूर्व सरपंच भारतसिंह राजपूत (52) व यशनगर निवासी गजराजसिंह सेंधिया (46) को गिरफ्तार किया गया था। कार्रवाई एसआई गोपालसिंह गुणावत के नेतृत्व में हुई। इसके बाद एसपी मनोज सिंह ने एसआई को लाइन हाजिर कर दिया।इसके साथ ही मामले की जांच की कमान एएसपी राकेश मोहन शुक्ला को सौंपी गई है। 

ग्रामीणों का आरोप है कि सिटी कोतवाली के सब इंस्पेक्टर गोपाल सिंह गुणावद ने फर्जी मामले में पूर्व सरपंच भारत सिंह को फंसाया है। पहले तो उन्होंने भारत सिंह को कार्यालय से गिरफ्तार किया और बाद में उनकी गाड़ी में ढाई क्विंटल डोडाचूरा रख दिया। भारत सिंह के पास न तो कोई  मादक पदार्थ था और न ही डोडाचूरा था। सब इंस्पेक्टर गोपाल सिंह ने अवैध वसूली की नीयत से पूर्व सरपंच को गिरफ्तार किया और परिजन से 25 लाख रुपए की मांग करने लगे।

 वही एसआई का आरोप है कि भाजपा कार्यकर्ता टीटू गुप्ता थाने आए थे और पूर्व सरपंच को छुड़ाने के लिए दबाव बनाया व 25 लाख रुपए देने की पेशकश भी की। नहीं छोड़ने पर विधायक जगदीश देवड़ा से बोलकर लाइन हाजिर कराने की धमकी भी दी थी।यह कार्रवाई उनके ही कहने पर की गई है।

"To get the latest news update download tha app"