बीजेपी में उपेक्षित महसूस कर रही यह पूर्व मंत्री

भोपाल।

लोकसभा चुनाव के बाद जहां बीजेपी गदगद नजर आ रही है, वही शिवराज सरकार में मंत्री रहीं कुसुम मेहदेले इन दिनों बीजेपी में अपने आप को उपेक्षित महसूस कर रही हैं और नेताओं से सोशल मीडिया के माध्यम से काम मांग रही है। बता दे कि विधानसभा चुनाव में टिकट काटे जाने के बाद से ही मेहदेले पार्टी से नाराज चल रही है और बगावती तेवर अपनाए हुए है। लेकिन अब वे सोशल मीडिया के माध्यम से नेताओं से पूछ रही है उनके लायक कोई काम है क्या...। हालांकि बीते दिनों इस बात की चर्चा थी कि चुनावी दौड़ से बाहर हुए नेताओं को मार्गदर्शक मंडल में शामिल किया जा सकता है, इसमें मेहदेले के  शामिल होने की संभावना जताई जा रही है।

दरअसल, सोमवार को शिवराज सरकार में मंत्री रहे उमा शंकर गुप्ता का जन्मदिन था। इस मौके पर सभी भाजपा नेताओं ने उन्हें सोशल मीडिया के माध्यम से बधाई दी। इस दौरान भाजपा महामंत्री सुहास भगत ने भी गुप्ता को बधाई दी और ट्वीट कर लिखा था कि '' भोपाल की दक्षिण-पश्चिम विधानसभा से पुर्व विधायक बीजेपी के वरिष्ठ नेता, पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता जी को जन्मदिन की शुभकामनायें।आप स्वस्थ रहें यही मंगल कामना'' । इस ट्वीट पर  कुसुम महदेले ने रीट्वीट कर लिखा है कि अब हमारे लिए कोई काम है ?। खास बात ये है कि उन्होंने यह ट्वीट एमपी बीजेपी, सुहास भगत और उमा शंकर गुप्ता को टैग भी किया है।

बता दे कि इससे पहले महदेले ने ट्वीटकर पार्टी पर उपेक्षा के आरोप लगाए थे। बीते दिनों उन्होंने ट्वीट कर  लिखा था कि भाजपा के सभी वरिष्ठ नेताओं को वृद्ध आश्रम मैं पहुंचा दिया गया है। अब उनका पार्टी में कोई महत्व नहीं रह गया है। भाजपा को यहां तक पहुंचाने के लिए जिन नेताओं ने त्याग और तपस्या की थी, उन्हें ही अब पार्टी ने वृद्ध आश्रम में पहुंचाकर उनको उपेक्षित कर दिया है।

गौरतलब है कि कुसुम महदेले 2013 के विधानसभा चुनाव में मध्यप्रदेश की पन्ना सीट से निर्वाचित हुई थीं और तत्कालीन शिवराज सरकार में मंत्री भी थीं। लेकिन 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दी। महदेले ने हाल ही में अपने एक ट्वीट के माध्यम से बीजेपी पर तंज भी कसा था।




"To get the latest news update download the app"