लिंगानुपात में सुधार के लिये बुरहानपुर को 1 लाख रु. पुरस्कार, कलेक्टर का सम्मान

बुरहानपुर।

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर जिले को  राज्य स्तर समिति ने महिला लिंगानुपात में बेहतर काम करने के लिए विशेष पुरस्कार के लिए चुना है। इसके लिए आज राजधानी भोपाल में कलेक्टर दीपक सिंह को सम्मानित किया जाएगा। कलेक्टर सिंह को 1 लाख रुपए, शाॅल और श्रीफल देकर भोपाल में सम्मानित किया जाएगा। इस काम को कलेक्टर सिंह ने नई दिशा और गति देकर समाज में एक अलग छवि कायम की है। कलेक्टर के इस बेहतर प्रदर्शन के लिए चारों तरफ उनकी प्रशंसा की जा रही है।कलेक्टर ने महिलाओं की स्थिति में सुधार करने के लिए कई अथक प्रयास किए।इस प्रतियोगित में प्रदेश के 52  जिलों को शामिल किया गया है जिसमें बुरहानपुर ने पहला स्थान पाया है।

लड़कों की अपेक्षा लड़कियों की संख्या बढ़ी

जिले में 68 गांव में पुरुषों के अनुपात में महिलाओं की संख्या बढ़ी है। 6 माह से 6 वर्ष तक की बालिकाओं को आंगनवाडी केंद्र में शाला पूर्व शिक्षा दे रहे। वर्ष 2017-18 में कुल 165 शालात्यागी बालिकाओं को प्रवेश दिलाया। जिले में कुल 39350 बालिकाओं को नि:शुल्क यूनिफॉर्म बांटी। 39350 बालिकाओं को नि:शुल्क पाठ्यपुस्तक दी। इससे 22 गांव छोड़कर बाकी सभी गांव में बालिका साक्षरता की दर प्रदेश और देश के औसत से ज्यादा है। 

इन कामों से बनाया जिले को बेहतर

कलेक्टर सिंह के कामों मे पांच बाल विवाह रोकना,पहली कक्षा में  5439 बालिकाओं को प्रवेश दिलाना, लाडली लक्ष्मी योजना में 3404 बालिकाओं के आवेदन भराना , 725 आंगनवाड़ी केंद्रों पर शौर्यदल का गठन करना, 19 हजार 441 महिलाओं का टीकाकरण करवाना, 10541  सुरक्षित प्रसव करवाना, 1136 बालिकाओं को आत्मरक्षा के लिए जागरुक करना, 4455  महिलाओं-बालिकाओं के पिंक ड्राइव लाइसेंस बनवाना, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत 653330 हस्ताक्षर करवाना के साथ-साथ सशक्त वाहिनी अभियान में पुलिस भर्ती परीक्षा की तैयारी के लिए मार्गदर्शन करवाना शामिल है।