कठुआ कांड का विरोध : रैली के दौरान उग्र भीड़ ने मचाया उत्पात, बसों ओर दुकानों में की तोड़फोड़

बुरहानपुर| कठुआ में एक मासूम बच्ची से गैंगरेप और उसके बाद उसकी हत्या की घटना का विरोध आज बुरहानपुर की सडकों पर देखा गया|  दोषियों को फांसी की सजा दिए जाने की मांग को लेकर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देने के लिए एकत्र हुए लोगों की भीड में कुछ शरारती तत्वों ने बाजार में दुकानों और वाहनों में तोडफोड कर दी| जिससे तनाव के हालात बन गए| लगभग 1000 लोगों ने जमकर उत्पात मचाया और हाईवे को जाम कर गाड़ियों और दुकानों में तोड़फोड़ की। करीब एक घंटे तक पूरा शहर दहशत में रहा। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर स्थिति को नियंत्रण में किया। 

प्रदर्शनकारियों ने शहर के शनवारा चौराहा पर इंदौर इच्छापुर स्टेट हाईवे पर जाम लगाने की कोशिश की गई|  जिन्हें पहले पुलिस ने हिकमते अमली से हटाया | लेकिन नहीं मानने पर पुलिस ने भीड को खदेडा | भीड में शामिल शरारती तत्वों ने पुलिस पर ही जो हाथ में आया उससे हमला करने की कोशिश की | इस दौरान दो पुलिस जवान सहित 5 लोग घायल हो गए। मीडिया को भी कवरेज करने से रोका इस विवाद में भीड ने कुछ मीडियाकर्मियों और पुलिसकर्मियों पर भी हमला करने की कोशिश की | सूचना मिलने पर तत्काल कलेक्टर एसपी बल के साथ मौके पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया।   बताया जा रहा है इसका प्रचार सोशल मीडिया पर जोर शोर से किया जा रहा था। इसी के जरिए इकबाल चौक पर दोपहर में करीब 1 हजार युवक एकत्र हुए थे। 

तनाव देखकर तुरंत बंद हुआ बाजार 

अब जिला प्रशासन आरोपियों की पहचान कर उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करने की बात कह रहा है। देश मे बढ़ रहे बलात्कार मामले में आरोपियों को सजा दिलाने और मासूमों इंसाफ दिलाने के लिए निकले शांति मार्च में उग्र हुए युवकों ने जमकर उत्पात मचाया|  जिससे क्षेत्र की गाँधी चौक,कमल टॉकीज़ बस स्टैंड के आप पास की दुकानों धड़ा धड़ बंद होनी शुरू हो गई जिससे माहौल में तनाव देखा गया। दूर दराज से खरीदी के लिए आये ग्रामीण भी माहौल को भाप कर खरीदी छोड़ अपने अपने घर सुरक्षित निकलने की जल्दी में दिखे।  पहले शनवारा चौराहे पर जाम की स्थिति बनी इसके बाद बस स्टेंड पर बसों को निशाना बनाया गया। जैसे ही मार्च गांधी चौक पहुच मार्च में मौजूद कुछ युवक उग्र हो गए देखते ही देखते गांधी चौक कमल टाकीज़ के आस पास का बाजार धड़ा धड़ बंद हो गए।