अब नंदकुमार को किसानों ने लौटाया बैरंग, देखें वीडियो

बुरहानपुर

जनप्रतिनिधियों विशेषकर विधायक और सांसदों के खिलाफ मध्य प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में एक के बाद एक कर जनाक्रोश साफ तौर पर दिखाई दे रहा है। कुछ दिन पहले ही शहडोल के सांसद ज्ञान सिंह, मंडला के सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते और मुरैना के सांसद अनूप मिश्रा को जन आक्रोश का सामना करना पड़ा था और जनता ने उनके कार्यक्रम का बहिष्कार कर दिया था ।ताजा मामला बुरहानपुर के पातौङा गांव का है जहां एक और 6 जून को आंधी और बारिश से नष्ट हुई केले की फसल देखने पहुंचे बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और वर्तमान में क्षेत्रीय सांसद नंदकुमार चौहान को किसानों ने बैरंग लौटा दिया। दरअसल किसानों की मांग थी कि उन्हें राहत राशि का मुआवजा प्रति एकड़ के हिसाब से नहीं बल्कि केली के प्रत्येक पौधे के हिसाब से दिया जाए जो वर्तमान नियमों में संभव नहीं है। क्षेत्रीय सांसद जनता के सामने गिड़गिड़ाते रहे कि मैं आपकी परेशानी देखने आया हूं। मैं भी किसान का बेटा हूं लेकिन लोगों ने एक न सुनी और उन्हें वापस जाने पर मजबूर कर दिया। ऐन विधानसभा चुनाव के ठीक पहले सत्ताधारी पार्टी के जनप्रतिनिधियों के प्रति जनता का यह रवैया सरकार के प्रति एंटी इनकंबेंसी का भी प्रतीक है।