जान देने बच्चे के साथ पटरी पर लेटी महिला, ऊपर से गुजरी ट्रैन, खरोंच भी नहीं आई

बुरहानपुर ।  'जाको राखे साइयां मार सके न कोय' की कहावत एक बार फिर चरितार्थ हुई है।  मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले में एक महिला और उसके बच्चे के ऊपर से ट्रैन धड़ धड़ा कर निकल गई, लेकिन करिश्मा देखिये, दोनों को एक खरोंच तक नहीं आयी| महिला आत्महत्या करने के लिए अचानक पटरी पर लेट गई थी| 

जानकारी के मुताबिक नेपानगर रेलवे स्टेशन के पास शनिवार सुबह एक महिला ने अपने एक माह के बच्चे के साथ पटरी के बीच लेटकर आत्महत्या का प्रयास किया। तभी सामने से आ रही सुपरफास्ट ट्रेन पुष्पक एक्सप्रेस दोनों के ऊपर से गुजर गई| यह देख सभी सकपका गए और कुछ करते उससे पहले ही ट्रैन उनके ऊपर से गुजर गई, ट्रैन निकलने के बाद देखा तो दोनों सही सलामत थे| जानकारी मिलते ही स्टेशन मास्टर आशाराम नागवंशी मौके पर पहुंचे और महिला को प्लेटफॉर्म पर बैठाया।  महिला की पहचान तबस्सुम पति साजिद अली (25) निवासी जांबली, प्रतापगढ़ (उप्र) के रूप में हुई| यह महिला सुबह 11.20 बजे काशी एक्सप्रेस के सामान्य डिब्बे से  ट्रेन से उतरी थी और दूसरी पटरी पर जाकर लेट गई| 

महिला ने जानकारी दी कि पति के साथ मुंबई जा रही थी, पति मुंबई में मजदूरी करता है और उसका एक माह का बेटा, जो उसी के पास था। महिला ने बताया कि ट्रेन में दोनों साथ चले थे लेकिन बाद में पति कहीं चला गया। उसने काफी खोजा, फिर परेशान होकर आत्महत्या का प्रयास किया। महिला को मानसिक रूप से कमजोर बताया जा रहा था, महिला बार बार बयान बदल रही थी| इसके बाद  महिला एवं बाल विकास विभाग को मामले की सूचना दी गया और महिला को बुरहानपुर भेजा गया।