Breaking News
खाना खाने के बाद बिगड़ी तबियत, दो सगी बहनों की मौत, मां की हालत गंभीर | पूर्व राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा की जन्मशताब्दी मनाएगी सरकार : शिवराज | अस्पताल के बच्चा वार्ड में लगी आग, मची अफरा-तफरी, 35 बच्चे थे भर्ती | खुशखबरी : मंत्री ने किसानों की मांग की पूरी, मोहनी सागर डेम से हरसी के लिए छुड़वाया पानी | पदोन्नति में आरक्षण : अब 22 अगस्त को होगी अगली सुनवाई, सपाक्स रखेगा अपना पक्ष | MP : आकाशीय बिजली का कहर, मवेशी चराने गए 6 लोगों की मौत, 12 घायल | गंगा की गोद में समाए 'अटल', 'बेटी नमिता ने ऊं' के उच्चारण के साथ हरकी पैड़ी में विसर्जित की अस्थियां | 'मजनू' के सिर से उतारा इश्‍क का भूत, लड़की ने चप्पलों से पीटा, भीड़ ने काटे बाल | महाकाल मंदिर के बाहर खून-खराबा, युवक ने दंपत्ति पर किया चाकू से हमला, मचा हड़कंप | BSP राष्ट्रीय महासचिव का गठबंधन से इंकार, कहा- प्रदेश की 230 सीटों पर लडेंगें चुनाव |

BANK STRIKE : बैंकों की हड़ताल का भारी असर, 20 हजार करोड़ का कारोबार प्रभावित

नई दिल्ली।

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंकिंग यूनियन (यूएफबीयू) के आह्वान पर करीब 10 लाख बैंक कर्मचारी भारतीय बैंक संघ (आईबीए) के वेतन में केवल 2 प्रतिशत वृद्धि के प्रस्ताव के विरोध में दो दिन की हड़ताल पर हैं। हड़ताल के कारण देश भर में बैंक सेवाएं आज भी प्रभावित हैं।बैंक से पैसे निकालने-जमा करने, चेक जमा करने, डिमांड ड्राफ्ट बनवाने, पासबुक अपडेट करवाने जैसे कई कामों के कारण आम आदमी परेशान हो रहा है। बताया जा रहा है कि इस दो दिन की हड़ताल के कारण 20,000 करोड़ का व्यापार प्रभावित हुआ है।हालांकि प्राइवेट बैंक जैसे आइसीआइसीआइ बैंक, एचडीएफसी बैंक और एक्सिस बैंक का कामकाज हड़ताल के पहले दिन बुधवार को कमोबेश सामान्य रहा, लेकिन चेक क्लियरिंग सेवाएं प्रभावित हुईं।वही बैंक कर्मचारी संघों के संयुक्त मोर्चे यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) से हड़ताल वापस लेने का आग्रह किया है।

आपको बताते चले कि दो दिवसीय हड़ताल का मध्य प्रदेश की करीब 5,000 बैंक शाखाओं में बड़ा असर देखा जा रहा है।  हड़ताल के पहले दिन सूबे में सभी 21 सरकारी बैंकों और निजी क्षेत्र के 11 पुराने बैंकों की लगभग 5,000 शाखाओं में अलग-अलग सेवाएं बाधित रहीं। हड़ताल में करीब 18,000 बैंक कर्मचारी हिस्सा ले रहे हैं। इनमें निजी क्षेत्र के पुराने बैंकों के लगभग 2,000 कारिंदे शामिल हैं। वही बैंकों का एनपीए (फंसे कर्ज) बढ़ने और इसके लिए रकम की व्यवस्था करने के कारण बैंकों को बड़ा घाटा हो रहा है। बीते मार्च तिमाही में सरकारी बैंकों का घाटा 50,000 करोड़ रुपये रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। दिसंबर 2017 तिमाही में सरकारी बैंकों का कुल घाटा 19,000 करोड़ रुपये था।

गौरतलब है कि बैंक कर्मचारियों का वेतन पिछली बार 15 प्रतिशत बढ़ा था। यह वेतन समीक्षा 1 नवंबर 2012 से 31 अक्टूबर 2017 तक के लिए थी। यूएफबीयू 9 श्रमिक संगठनों का निकाय है। इसमें ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कान्फेडरेशन (AIBOC), ऑल इंडिया बैंक एम्प्लायज एसोसिएशन (AIBAA) और नेशनल आर्गेनाइजेश ऑफ बैंक वर्कर्स (NBOBW) शामिल हैं। देश भर में सार्वजनिक क्षेत्र के 21 बैंकों की करीब 85,000 शाखाएं हैं और कारोबार हिस्सेदारी करीब 70 प्रतिशत है।


मुख्य मांगें

-वेतन में दो फीसद की जगह 25 फीसद बढ़ोतरी की जाए

-आईबीए द्वारा जल्द मांग पत्र को निपटाया जाए

-बैंककर्मियों के साथ हुए समझौते पर अमल हो

वेतन निर्धारण की प्रक्रिया जल्द पूरी की जाए।

- सभी ग्रेड के अधिकारियों को शामिल किया जाए। 

- अन्य सेवा शर्तों में सुधार किया जाए।



हड़ताल के चलते बंद रहेंगे ये बैंक

-स्टेट बैंक ऑफ इंडिया

-कैनरा बैंक

-बैंक ऑफ बड़ौदा

-पंजाब एंड सिंध बैंक

-पंजाब नेशनल बैंक


इन बैंकों में सामान्य रूप से चलेगा काम

-आईसीआईसीआई बैंक

-एचडीएफसी बैंक

-एक्सिस बैंक

-कोटक महिंद्रा बैंक

-इंडसलैंड बैंक

- यस बैंक

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...