Breaking News
अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग |

MP-UP बॉर्डर पर रेत माफियाओं में फायरिंग मामले में नायब तहसीलदार और टीआई पर गिरी गाज

छतरपुर| मध्य प्रदेश और उत्तरप्रदेश की सीमा पर रामपुर रेत खदान को लेकर हुई 500 राउंड फायरिंग मामले में नायब तहसीलदार और थाना प्रभारी पर गाज गिरी है| बुधवार को रेत खदान की इस लड़ाई में जमकर फायरिंग हुई थी और चंदला से भाजपा के विधायक आरडी प्रजापति के पूर्व प्रतिनिधि रुद्र पटेल को भी गोली लगी थी, जिसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले में रेतमाफिया से साठगांठ और लापरवाही के चलते नायब तहसीलदार रामकिशोर झरवडे को कलेक्ट्रेट तथा थाना प्रभारी गोयरा को लाइन अटैच कर दिया गया है| 

दरअसल, छतरपुर में लंबे समय से रेत का अवैध कारोबार हो रहा है जिसमें प्रशासन भी कहीं न कहीं मूकदर्शक बनकर रेत माफियाओं के हाथों खेल रहा है|  रेत के अवैध कारोबार ने सारी सरहदें  पार कर दी है। मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश की सीमा पर बुधवार केन नदी के किनारे हुई पाच सौ राउंड गोलीबारी की घटना ने बात की पुष्टि कर दी है । छतरपुर के चंदला विधायक के प्रतिनिधि रुद्रप्रताप बुधवार को जब नायब तहसीलदार और खनिज अधिकारी के साथ केन नदी के किनारे एक पंचायत के साथ अनुबंधित हुई अपनी खदान का सीमांकन कराने पहुंचे तो यह बात सामने आई। दरअसल केन नदी के दूसरे किनारे उत्तरप्रदेश की सीमा से सटी रेत खदानों पर दलजीत सिंह नामक व्यक्ति का ठेका है। इस व्यक्ति ने अपने ठेके को कांग्रेस के एक पूर्व विधायक के लोगों को पेटी पर दे रखा है ।नदी सूख चुकी है सो उत्खनन करने वालों ने सारी हदें पार कर दी और वे मध्य प्रदेश की सीमा पार तक आ पहुंचे। सीमा के पार उत्खनन होता देख  विधायक प्रतिनिधि भड़क गए और दोनों पक्षों के बीच में पहले जमकर कहासुनी हुई और बाद में गोलीबारी शुरू हो गई । गोलीबारी इस कदर तेज हुई के नायब तहसीलदार और खनिज अधिकारी को रेत के गड्ढों में छुपकर अपनी जान बचानी पड़ी। रुद्रप्रताप इस घटना में घायल है जिसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस घटना ने एक बार फिर रेत के अवैध कारोबार को लेकर चल रहे अंतर राज्य विवाद को सामने ला दिया है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...