नामांतरण के नाम पर किसान से रिश्वत मांग रहा था पटवारी, लोकायुक्त ने रंगेहाथों धरा

छतरपुर।

मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार चाहे भ्रष्टाचार खत्म करने के लाख दावें कर लें, लेकिन इसके बावजूद सरकारी कर्मचारी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे। इसी कड़ी में ताजा मामला छतरपुर जिले के बिजावर से सामने आया है। यहां एक पटवारी को किसान से रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया गया है। आरोप है कि पटवारी किसान से नामांतरण के नाम रिश्वत मांग रहा था।

जानकारी के अनुसार, किसान अभीतेंद्र परमार बिजवार तहसील के कदवारा में पदस्थ  पटवारी रामप्रसाद पटेल के पास नामांतरण कराने केपहुंचा था, जहां पटवारी ने इसके एवज में पांच हजार रिश्वत की मांग की।किसान ने इसकी शिकायत सागर लोकायुक्त से की। लोकायुक्त ने योजना बनाकर किसान को रिश्वत के पांच हजार लेकर पटवारी के पास भेजा।  जैसे ही पटवारी ने रिश्वत के पांच हजार किसान से लिए वैसे ही पीछे से लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया। इसके बाद लोकायुक्त ने जब पटवारी के हाथ धुलवाए तो वह गुलाबी हो गए। हालांकि आरोपी इसे अपने खिलाफ षड्यंत्र बताता रहा।लोकायुक्त टीम ने आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं के तहत कार्यवाही की है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।


"To get the latest news update download tha app"