मंत्री ने क्यों कराई मेंढक-मेंढकी की शादी..पढ़िए पूरी खबर

छतरपुर| मानसून की बेरुखी से परेशान मध्य प्रदेश के लोगों ने इंद्र देवता को प्रसन्न करने के लिए टोने-टोटके का सहारा लेना शुरू कर दिया है| हर साल बारिश समय पर हो और जमकर हो जिससे सूखे की समस्या से निजात मिल सके इसके लिए तरह तरह के टोटके किये जाते हैं, अब ये टोटके कितने सफल होते हैं, यह तो आने वाला मानसून ही बताएगा| लेकिन आज के आधुनिक युग में बारिश के लिए किये जाने वाले टोटकों पर कुछ लोग भरोसा नहीं करते हैं, वहीं सरकार को इन पर अटूट भरोसा है| सालों से सूखे की समस्या से जूझ रहे बुंदेलखंड और पूरे प्रदेश में अच्छी बारिश हो इसलिए राज्यमंत्री ललिता यादव ने अनोखा टोटका किया| 

छतरपुर सहित पूरे प्रदेश में अच्छी वर्षा के लिये प्राचीन मान्यता के तहत आज पिछड़ा वर्ग-अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री और छतरपुर विधायक ललिता यादव ने कार्यकर्ताओं के साथ शहर के फूलादेवी मंदिर में मेंढक-मेंढकी की विधि-विधान से शादी कराकर अच्छी बारिश के लिए प्रार्थना की। राज्यमंत्री ललिता यादव ने सभी की खुशहाली के लिये भी मां फूला देवी से प्रार्थना की और कन्या पूजन किया। सभी कार्यकर्ताओं ने भोजन प्रसाद भी ग्रहण कर मेंढक-मेंढकी की शादी समारोह का पूरा आनन्द लिया।

पुरानी मान्यता है कि मेंढक-मेंढकी की शादी कराने से अच्छी बारिश होती है, इसलिए लोग ऐसा करते हैं,  ताकि वह इंद्रा देव से गुहार लगा कर वर्षा करवाने की प्रार्थना करते हैं| ये भी कहा जाता है की बारिश के मौसम में ही मेंढक और मेंढकी का मिलन होता है|  इसी वजह से यहाँ इनकी शादी करवाई जाती है|  जिससे इंद्रा देव प्रसन्न हो और भरपूर वर्षा हो इस शादी में सभी रीती-रिवाज़ निभाए जाते है|


"To get the latest news update download tha app"