Breaking News
अब मंत्री-परिषद के सदस्य उतरेंगें सड़कों पर, जनता को समझाएंगे 'सड़क सुरक्षा' के नियम | 28 सितंबर को फिर भारत बंद का ऐलान, इसके पीछे ये है वजह | 12वीं पास के लिए सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका, जल्द करें अप्लाई | शर्मनाक : युवक की हत्या के शक में महिला को निर्वस्त्र कर घुमाया, पथराव-आगजनी, 8 पुलिसकर्मी सस्पेंड | शिवराज कैबिनेट की बैठक खत्म, इन अहम प्रस्तावों को मिली मंजूरी | मॉर्निंग वॉक के दौरान EOW इंस्पेक्टर की मौत, हार्ट अटैक की आशंका | अखिलेश की नजर अब मप्र पर, 3 सितंबर को आएंगें इंदौर | अटल जी के निधन पर पूरे देश में शोक और भाजपा नेता निकाल रहे डीजे यात्रा : कांग्रेस | VIDEO : मोबाईल टॉवर पर चढ़ा शराबी, मचा रहा हंगामा, नीचे उतारने में जुटी पुलिस | चुनावी साल में शिवराज सरकार का मास्टर स्ट्रोक, कुपोषण मिटाने खर्च करेगी 57 हजार करोड़ |

ASI हत्या मामला : पुलिस ने 8 आरोपियों को किया गिरफ्तार, इनमें 3 महिलाएं भी शामिल

छिंदवाड़ा/भोपाल।

मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में ASI की हत्या का मामले में पुलिस ने 8 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।गिरफ्तार आरोपियों में तीन महिलाएं भी शामिल हैं। इससे पहले पुलिस ने 11 नामजद आरोपियों पर एफआईआर दर्ज की थी। IG अनंत कुमार सिंह आरोपियों की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। वही कांग्रेस ने इस घटना की निंदा की है और कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए है।

दरअसल, मंगलवार रात को जिले के उमरेठ थाने की पुलिस पर अज्ञात बदमाशों ने  एएसआई नागले समेत उनकी टीम पर हमला कर दिया था। बाकी पुलिसकर्मी जैसे तैसे जान बचाकर निकल गए लेकिन नागले बदमाशों के हाथ लग गए और उन्होंने निहत्थे एसआई पर कुल्हाड़ी और लाठियों से हमला कर दिया और उनको मौत के घाट उतार दिया। नागले का शव जिला अस्पताल भिजवाया गया है।इसके बाद आज बुधवार को शहीद एएसआई देवचंद नागले को दोपहर 12:30 बजे कंट्रोल रूम छिन्दवाड़ा में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।।  पता चला है कि आरोपी शराब के नशे में था और उसने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया। आरक्षक अनिल और कोटवार को चोट आई है। घटना की जानकारी सुबह प्राप्त होते ही जिला प्रशासन में हड़कम्प मच गया। पुलिस अधीक्षक अतुलसिंह और डीआईजी मौके पर पहुंचे।

 पुलिस ने घटना को अंजाम देने वाले आठ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों में 3 महिलाएं भी शामिल हैं। गिरफ्तार आरोपियो में फरार वारंटी जौहर सिंह ककोडिया के अलावा जीवन सिंह ककोडिया, जौहरवती, धर्मेंद्र, राघवेंद्र, शीला बाई, अंतोषी, सुमरवती बाई, ललित धुर्वे, विपिन उइके और राजेश यादव शामिल हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शरीर पर लाठी-डंडों के निशान पाए गए हैं।


पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने उठाए सवाल

पुलिस कर्मी पर हुए हमले पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी ने सवाल उठाए है। उन्होंने कहा है कि प्रदेश में पहले महिलाएं,  बच्चियां सुरक्षित नही थी अब पुलिस भी सुरक्षित नही है। कानून व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो चुकी है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...