आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत बोले, अयोध्या में ही बनेगा राममंदिर

छिंदवाड़ा। 

राम राष्ट्रीय महापुरुष हैं और 8 हजार सालों बाद भी हम उनका अनुशरण करते है। अयोध्या में राम मंदिर बनेगा तो सम्पूर्ण विश्व को मर्यादा सिखाने वाला भारत खड़ा होगा, इसलिए राममंदिर अयोध्या में ही बनाया जाएगा। आयोध्या में राम मंदिर बनने से भारत की दुनिया में नई पहचान होगी। इस मंदिर के माध्यम से हम विश्वभर मे लोगों को जीवन कैसे होना चाहिए इसकी शिक्षा देंगें।यह देश और प्रदेश के लिए भी महत्वपूर्ण है। यह बात आज संघ प्रमुख मोहन भागवत ने छिंदवाड़ा में अपने भाषण के दौरान कहीं।इसके साथ ही उन्होंने यहां संघ के पदाधिकारियों के साथ बैठक की।

बता दे कि इससे पहले वे आखिरी बार आज से  7 साल पहले छिंदवाड़ा आए थे, इस दौरान उन्होंने एक अप्रैल 2011 संघ कार्यालय का अनवारण किया था।वही  भागवत के इस दौरे के राजनैतिक मायने निकाले जा रहे हैं। 

 दरअसल, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत आज मंगलवार को छिंदवाड़ा से 19 किमी दूर सीहोरामाल में भगवान शंकर की 51 फीट की प्रतिमा का भूमिपूजन करने पहुंचे थे। यहां  मुख्य आतिथ्य, महाराजा ऑफ नागपुर राजे मुधोजी भोंसले के विशिष्ठ आतिथ्य और जयशंकर साहू की अध्यक्षता में भोलेनाथ की प्रतिमा की स्थापना के लिए भूमिपूजन किया गया।  प्रतिमा स्थापना के लिए आयोजन की तैयारियां श्री शिवशंकर सेवा ट्रस्ट द्वारा की गई थी।कार्यकर्ताओं और कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे लोगों को संबोधित करते हुए भागवत ने कहा कि मैं यहां संबंधों की वजह से आया हूं। साहू परिवार और भोसले परिवार के बीच पचास वर्ष पुराने संबंधों का नतीजा है कि आज श्री रामेश्वरम पूजा धाम बन रहा है। ऐसे धाम और मंदिर जगह-जगह बनाने चाहिए।यहां चिल्ड्रन गार्डन बच्चों के लिए बन रहा है जहां बच्चे आएंगे। मंदिर में वह अध्यात्म और पार्क में लगे पौधों के जरिए प्रकृति को पहचानेंगे।

उन्होंने देश में हो रही गौ-हत्या को लेकर कहा कि हमें अगर अपने देश की गायों को बचाना है तो हमें गौवंश की रक्षा करनी होगी। इसके लिए समाज के साथ साथ देश को भी आगे आना होगा। गौ-रक्षा तो हमारा धर्म है और गौवंश हमारी पंरपरा है, जिन्हें हमें निभाना चाहिए। 

चुंकी महाराजा का एक प्रकल्प महाराष्ट्र के देवलापार में है। इसी तर्ज पर सिहोरामाल में मंदिर के साथ गौशाला और बच्चों के पार्क को विकसित किया जा रहा है।  सिहोरामाल में महाराजा की करीब 20 एकड़ जमीन है। मंदिर निर्माण के साथ ही ट्रस्ट बनाया जाएगा।


"To get the latest news update download tha app"