लोकायुक्त के जाल में फंसा पटवारी, 4 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों धराया

दतिया

मध्यप्रदेश के दतिया जिले में लोकायुक्त ने पटवारी को चार हजार की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। पटवारी ने सूखा राहत की राशि भेजने के एवज में किसान से रिश्वत की मांग की थी।यह कार्रवाई ग्वालियर लोकायुक्त टीम द्वारा की गई है।लोकायुक्त डीएसपी प्रदुमन पारासर की अगुवाई में निरीक्षक पीके चतुर्वेदी, निरीक्षक राजीव गुप्ता की टीम ने कार्रवाई को अंजाम दिया। पटवारी के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है।

जानकारी के अनुसार, ग्राम कालीपुरा निवासी किसान राजेन्द्र सिंह गुर्जर के पास 38 बीघा जमीन है।सरकार द्वारा उसे  38 बीघा पर सूखा की राहत राशि 40, 800 रूᆬपए स्वीकृत हुई है। दतिया तहसील के राजस्व हल्का नंबर 14 कालीपुरा में पदस्थ पटवारी बाल सिंह गौतम निवासी जुझारपुर ने राजेन्द्र सिंह से सूखा राहत की राशि खाते में भेजने के लिए दस प्रतिशत यानि 4,500 रुपए की रिश्वत मांगी थी।जिस पर किसान राजेन्द्र ने पटवारी को 500 रूᆬपए नकद दे दिए थे और चार हजार बाकी थे।पटवारी बाकी पैसों की मांग करने लगा और इसके बाद ही काम करने की बात कहीं। पटवारी द्वारा रिश्वत की मांग करने से परेशान होकर राजेन्द्र सिंह के लड़के हरीओम गुर्जर ने 12 मार्च को ग्वालियर लोकायुक्त कार्यालय में पटवारी की शिकायत की। शिकायत का परीक्षण कराने के डीएसपी प्रदुम्न पाराशर ने 12 मार्च को पटवारी की बातचीत टेप करने फेरियादी हरीओम गुर्जर के साथ आरक्षक अमर सिंह गिल को वॉयस रिकॉर्डर के साथ दतिया भेजा।लोकायुक्त की टीम ने फिर योजना  बनाकर पटवारी को रंगे हाथों पकड़ लिया गया।लोकायुक्त टीम ने पटवारी के हाथ पानी से धुलवाएं तो पानी का रंग गुलाबी हो गया।पटवारी बाल सिंह गौतम के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई। यह कार्रवाई ग्वालियर लोकायुक्त टीम के डीएसपी प्रदुमन पारासर , निरीक्षक पीके चतुर्वेदी, निरीक्षक राजीव गुप्ता द्वारा की गई।