Breaking News
अखिलेश बनाएंगे नई टीम, चुनाव से पहले सपा में शामिल हो सकते हैं कई दिग्गज नेता | शिवराज को रास नहीं आई राहुल-मोदी की 'झप्पी' | राहुल ने संसद में आंख मारी तो सोशल मीडिया पर आ गया 'भूकंप' | ICAI Results 2018: CA-CPT का रिजल्ट घोषित, एमपी के पलाश ने मारी बाजी | उद्योगपति के घर 8 लाख की चोरी, पीछे का ग्रिल तोड़कर घुसे बदमाश | तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में भोपाल होगा राजनीति का केंद्र, शाह यही डालेंगे डेरा | एक बार फिर बुआ-भतीजा आमने-सामने | PHE के रिटायर्ड अधिकारी से ठगी, ATM बदलकर निकाले डेढ़ लाख रूपये | GOOD NEWS : अब रानी दुर्गावती यूनिवर्सिटी के कर्मचारी भी होंगें 62 में रिटायर | CM ने एक क्लिक में प्रदेश के 46 हजार छात्रों के बैंक खातों में ट्रांसफर किए 113 करोड़ रुपए |

शहीद रंजीत सिंह का पार्थिव शरीर पहुंचा रेव गांव, सैनिक सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार

दतिया

 मध्यप्रदेश के दतिया जिले के शहीद जवान रंजीत सिंह तोमर का पार्थिव शरीर झांसी मार्ग से होते हुए उनके गांव रेव पहुंच चुका है। सैनिक सम्मान से उनका थोडी देर में अंतिम संस्कार किया जाएगा।  शहीद के घर लोगों के पहुंचने का सिलसिला जारी है। सेना के अधिकारी भी शहीद के गांव पहुंच गए हैं।घर में मातम छाया हुआ है। मां का रो-रोकर बुरा हाल है। लोग रंजीत की शहादत पर गर्व कर रहे थे।सीएम शिवराज सिंह और मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने शहीद सैनिक रंजीत सिंह को श्रद्धांजलि दी है। शहीद की अंत्येष्टि में मंत्री शामिल होंगे।

बता दे कि कश्मीर के कुपवाड़ा में पाकिस्तानी आतंकवादियों से आमने सामने की मुठभेड़ में शहीद रंजीत को पेट में गोली लग गई थी।  सेना की 28 आरआर रेजीमेंट में सैनिक के पद पर थे। करीब सात साल पहले उन्होंने आर्मी ज्वाइन की थी। उनके पिता प्रताप सिंह तोमर किसान हैं और घर में दो छोटे भाई है, जो फिलहाल पढ़ाई कर रहे हैं। रंजीत तीन भाइयों में दूसरे नबंर का थे। उसकी बचपन से ही सेना में भर्ती होकर देश की सेवा करने की इच्छा थी। 6 साल पहले जब शिवपुरी में सेना की भर्ती रैली आयोजित हुई तो वह पहले ही प्रयास में सेन्य सेवा के लिए चुन लिया गया।  5 साल का सैन्य प्रशिक्षण कश्मीर में पूरा करने के बाद 4 माह पहले ही रंजीत को झांसी में पदस्थ किया गया था।



  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...