Breaking News
व्यापमं का जिन्न फिर बाहर: दिग्विजय ने शिवराज, उमा समेत 18 के खिलाफ किया परिवाद दायर | चुनाव लड़ने का इंतजार कर रहे बीजेपी के 70 विधायकों में मचा हड़कंप! | अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित |

भाजपा विधायक पर फूटा कार्यकर्ताओं और जनता का गुस्सा, लगे मुर्दाबाद के नारे

धार

मध्यप्रदेश के धार जिले में बीजेपी कार्यकर्ताओं और जनता का भाजपा विधायक पर इस कदर गुस्सा फूटा की वे कार्यक्रम में ही शामिल नही हुए और वापस लौट गए। दरअसल,इन दिनों प्रदेशभर में भाजपा युवा मोर्चा द्वारा 'चलो पंचायत' अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें भाजपा के तमाम नेता शामिल होकर इस अभियान को आगे बढ़ा रहे है। इसी कड़ी में मंगलवार देर शाम धार के सरदारपुर में अभियान के तहत हितग्राही सम्मान समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें भाजपा विधायक वेल सिंह भूरिया भी शिरकत करने पहुंचने वाले थे।लेकिन विधायक के पहुंचने से पहले बीजेपी के कार्यकर्ताओं और जनता ने मुर्दाबाद-मुर्दाबाद के नारे लगाना शुरु कर दिए,जिसके चलते विधायक जी कार्यक्रम मे ही नही पहुंचे। वही कांग्रेस ने इस मौके को लपकते हुए इस घटना पर बीजेपी पर जमकर हमला बोला है।

 जनता  और कार्यकर्ताओं का आरोप है कि चुनाव जीतने के बाद से ही पूरे  5 साल बीत जाने के बाद भी विधायक भूरिया कभी अपने क्षेत्र में झांकने तक नही पहुंचे और ना ही कोई विकास कार्य करवाएं। कार्यकर्ताओं और ग्रामीणों में विधायक के इस रवैये को लेकर काफी आक्रोश था , जिसको लेकर ग्रामीणों और कार्यकर्ताओं ने समारोह में खूब हंमामा किया और मुर्दाबाद के नारे लगाए। यहां तक की उन्होंने विधायक को गुंडों का मसीहा तक कह डाला । इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अब अगली बार भूरिया को टिकट नही मिलना चाहिए।

विवाद बढ़ता देख वहां के प्रभारी और कई लोगों ने जनता और कार्यकर्ताओं को मंच से समझाइश दी लेकिन उनका अाक्रोश कम नही हुआ और वे और भड़क गए। जब इस विरोध की सूचना  विधायक को मिली तो उन्होंने कार्यक्रम में जाना कैंसिल कर दिया और बीच रास्ते से ही वापस लौट गए। वही कार्यकर्ताओं का आक्रोश भी देखते हुए वे आयोजन स्थल तक भी नहीं पहुंचे।हालांकि बीजेपी जिलाध्यक्ष ने गंभीरता दिखाते हुए कहा कि वे खुद बरमंडल जाकर इस मामले की जाँच करेंगे और लोगों को समझाने का प्रयास करेंगे।

कांग्रेस ने बोला हमला

इस पूरे घटनाक्रम को लेकर कांग्रेस ने सरकार और विधायक पर जमकर हमला बोला। कांग्रेस ने कहा कि पांच साल बीत जाने के बावजूद विधायक ने कोई काम नही किया। जनता से किए गए वादे पूरे नही किए। जनता और भाजपा कार्यकर्ताओं के विरोध ने शिवराज सरकार के उन दावों की पोल खोल कर रख दी है, जिसमें वे गांव गांव में विकास की बात करते है।




  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...