Breaking News
किसान आंदोलन की आहट से सरकार की नींद उड़ी, प्रदेश में हाई अलर्ट, पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद्द | अध्यापकों के तबादलों से रोक हटी, आदेश जारी | राहुल गांधी की सभा की अनुमति को लेकर बैकफुट पर प्रशासन, बदली शर्ते | किसान और जनता के घरो में डाका डाल रही सरकार : अजय सिंह | शराब दुकानों को लेकर आमने-सामने हुए दो विभाग | सहकारी बैंक का जीएम 50 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों धराया | कम नहीं होगा पेट्रोल-डीजल पर वैट : वित्तमंत्री मलैया | VIDEO : मप्र कोटवार संघ की सरकार को चेतावनी- मांगे पूरी नहीं हुई तो कांग्रेस को देंगें समर्थन | VIDEO : बाप को जेल ले जा रही थी पुलिस, बेटियों ने जीप पर चढ़कर किया जमकर हंगामा | एमपी टूरिज्म के रिसॉर्ट में तेंदुए का टेरर..देखिये वीडियो |

पुलिस ने बरामद किए 44 जिंदा बम, पशुओं के शिकार के लिए किए जाते थे इस्तेमाल

डिंडौरी।

मध्य प्रदेश के डिंडौरी में पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। पुलिस ने 44 जिंदा बमों के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने सभी बमों को अपने कब्जे में लेकर डिफ्यूज कर दिया है। घटना सचौली धनगांव के शहपुरा थाना की बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि इन बमों का इस्तेमाल आरोपी पशुओं के शिकार के लिए किया करते थे।पुलिस ने मामले की जांच शुरु कर दी।

मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस को सूचना मिली थी कि सचौली धनगांव में कुछ लोग जिंदा बम के अपने घर में रखे हुए है। इस पर पुलिस की एक विशेष टीम का गठन किया गया और दबिश दी। जब पुलिस ने घर की तलाश ली तो 44 जिंदा बम मिले। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को भी गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि इन बमों का इस्तेमाल वन्यप्राणियों के शिकार के लिए किया जाता है। पुलिस ने सभी बमों को डिफ्यूज कर दिया है। पुलिस ने इस मामले सूचना वन विभाग को भी दी है, ताकी पता लगाया जा सके कि अबतक आरोपियों ने किन-किन वन्यप्राणियों का शिकार किया है।डिंडौरी जिले में इतने बड़े पैमाने पर बम पकड़े जाने का यह पहला मामला है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। 

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...