किसकी चोटी पर कमलनाथ ने चलाई कैंची

भोपाल।।

मध्य प्रदेश में 15 साल के लंबे इंतजार के बाद कांग्रेस की सरकार बनी है। कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कठोर संकल्प और प्रतिज्ञा की थी। लोगों के कठिन तप का भी असर दिख रहा है। जबलपुर के जिला मंत्री मनोज नामदेव  ने भी संकल्प किया था कि जब तक मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार नहीं बनेगी, चोटी नही कटवाएंगेंं। गुरुवार को विधानसभा पहुंचे मनोज ने यह बात जब सीएम कमलनाथ को बताई तो उन्होंने कैंची से चोटी काट मनोज का संकल्प पूरा किया।

दरअसल, जबलपुर कांग्रेस के जिला मंत्री मनोज नामदेव ने 2003 के चुनावों के बाद कांग्रेस की सत्ता में वापसी के लिए अपनी चोटी न कटाने का प्रण लिया था। बीजेपी के 15 सालों के राज में उन्होंने अपनी इस प्रतिज्ञा को बनाए रखी। कांग्रेस की सत्ता में वापसी के इंतजार में 15 सालों में उनकी चोटी की लम्बाई डेढ़ मीटर हो गई।अब जब सरकार कांग्रेस की है, तो गुरुवार को कांग्रेस नेता मनोज नामदेव मंत्री लखन घनघोरिया के साथ विधानसभा पहुंचे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सत्ता में आने से वह बेहद खुश हैं और अब वह  सीएम कमलनाथ को बधाई देकर अपनी चोटी कटवाएंगे। वो सीएम कमलनाथ से मिले। कार्यकर्ताओं ने सीएम को उनके संकल्प के बारे में बताया और फिर उसके बाद सीएम ने कैंची से मनोज की चोटी काटकर उनका संकल्प पूरा कराया।अपनी चोटी के कारण मनोज यादव पूरे इलाके और कांग्रेस में 15 साल तक चर्चा में बने रहे।

बता दे कि इसके पहले दुर्गालाल किरार नामक कांग्रेस कार्यकर्ता ने संकल्प किया था कि जब तक मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार नहीं बनेगी, वे जूता नहीं पहनेंगे, धूप या बरसात दुर्गालाल ने 15 साल तक जूते नहीं पहने।बीते दिनों ही मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने पर दुर्गालाल किरार ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाकात कर ये बात बताई थी। इसके बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दुर्गालाल खुद सीएम हाउस बुलाकर जूते पहनाए थे।


"To get the latest news update download the app"