Breaking News
व्यापमं का जिन्न फिर बाहर: दिग्विजय ने शिवराज, उमा समेत 18 के खिलाफ किया परिवाद दायर | चुनाव लड़ने का इंतजार कर रहे बीजेपी के 70 विधायकों में मचा हड़कंप! | अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित |

स्वच्छता में इंदौर फिर बना नंबर वन, भोपाल देश का दूसरे सबसे साफ शहर

भोपाल| देशभर में सफाई में नंबर-1 रहे इंदौर ने एक बार फिर अपना स्वच्छता के मामले में अपना वर्चस्व कायम रखा है| 4000 शहरों को पछाड़कर इंदौर फिर नंबर वन बना है, वहीं प्रदेश की राजधानी भोपाल दोबारा दूसरे स्थान पर रहा है| तीसरे स्थान पर चंडीगढ़ रहा| केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने बुधवार शाम को दिल्ली में स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 के परिणामों की घोषणा की। 

स्वच्छता के मामले में नंबर वन बने रहने के लिए इंदौर ने बड़ा संघर्ष किया है और कई अभियान चलाकर साफ़ सफाई को लेकर जागरूकता फैलाई गई| विदेश से आने वाले लोग भी इंदौर की तारीफ करते नहीं थकते हैं | साफ़ सफाई के लिए इंदौर नगर निगम ने कई कड़े कानून भी बनाये जिसका रिजल्ट देखने को भी मिला और नंबर वन का ताज इंदौर को दोबारा मिला है| यहां यदि किसी ने सड़क पर थूका या गंदगी की तो 500 रुपए जुर्माना लगेगा। पालतू श्वान/जानवरों को सार्वजनिक स्थान पर शौच करवाई तो मालिक पर 500 रुपए स्पॉट फाइन लगेगा। इसके अलावा लोक परिवहन के वाहन जैसे बस, वैन-मैजिक, ऑटो-रिक्शा आदि में डस्टबिन रखना भी अनिवार्य कर दिया गया है। वहीं लोग भी बेहद जागरूक हैं| स्वच्छता के लिए स्थानीय लोगों ने भी कई पहल की शुरुआत की| लोगों ने प्रशासन के साथ मिलजुलकर शहर को एक बार फिर स्वच्छता में नंबर वन बनाया है| इंदौर महापौर मालिनी गौड़ ने सोशल मीडिया पर इंदौर वासियों को बधाई दी है| वहीं प्रदेश की राजधानी भोपाल में नगर निगम ने सड़क, शौचालय, मार्केट पर अधिक ध्यान देते हुए गंदगी पर नियंत्रण करने के साथ ही कचरा प्रबंधन की बेहतर व्यवस्था की| जिसके चलते भोपाल दूसरे बार स्वच्छता सर्वेक्षण में दुसरे स्थान पर रहा है| मध्य प्रदेश के दो बड़े शहर भारत के सबसे स्वच्छ शहरों में शामिल हुए हैं| 

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...