एक-दो दिन में बदल सकता है प्रदेश का मौसम, गर्मी से राहत के आसार

भोपाल| भीषण गर्मी और लू के गर्म थपेड़ों से परेशां प्रदेशवासियों को जल्द ही राहत मिल सकती है| प्रदेश के कुछ हिस्सों को आगामी एक-दो दिन में प्री मानसून गतिविधियां शुरू होने की संभावना है| मौसम विज्ञानियों के मुताबिक गुरुवार से बादल छाने और गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड़ने की संभावना बन रही है। इससे भीषण गर्मी से कुछ राहत मिलने के आसार हैं।

 राजधानी में लगातार लू चल रही है, इसके अलावा रात में भी तापमान सामान्य से 5 डिग्रीसे. अधिक बना हुआ है। उधर मंगलवार को दिन का अधिकतम तापमान 45.1 डिग्रीसे. दर्ज किया गया,जो कि सामान्य से 7 डिग्रीसे. अधिक रहा। सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात का तापमान 31.5 डिग्रीसे. रिकार्ड हुआ। यह भी सामान्य से 5 डिग्रीसे. अधिक रहा।  बुधवार को भी कोई राहत मिलती नहीं दिख रही है। सुबह से तीखी धूप चटकी हुई है।  इस बीच राजधानी में 13 और 14 जून को धूलभरी आंधी और गरज चमक के साथ बूंदाबांदी हो सकती है।

वायु से बदल सकता है मौसम 

मौसम वैज्ञानिक के अनुसार पूर्वी अरब सागर के ऊपर बने चक्रवाती तूफान का असर भी यहां पड़ेगा। इसके चलते गुरुवार और शुक्रवार को आंधी चल सकती है। इस दौरान हवाओं की रफ्तार 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है। अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान वायु के गुरुवार सुबह गुजरात कोस्ट में पोरबंदर और महुआ के बीच में टकराने की संभावना है। इसके बाद यह तीव्र चक्रवाती तूफान में तब्दील हो जाएगा। इसके प्रभाव से हवा का रुख बदलने और वातावरण में बड़े पैमाने पर नमी आने का अनुमान है। इससे राजधानी सहित प्रदेश के कई स्थानों पर तेज रफ्तार से हवाएं चलने के साथ बादल छाएंगे। इस राजधानी में भी गरज-चमक के साथ बरसात होने के आसार हैं। इससे गर्मी से कुछ राहत मिल सकती है।

स्थानीय मौसम विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक ने बताया कि एक दो दिन में मध्यप्रदेश के दक्षिणी हिस्से भोपाल, इंदौर, उज्जैन संभागों के जिलों में मानसून पूर्व की गतिविधियां शुरू होने का अनुमान है। इससे तापमान में कुछ गिरावट आ सकती है। मानसून 20 जून के बाद आने की संभावना है इससे पहले कई इलाकों में प्री मानसून की गतिविधयां देखने को मिल सकती है| 


तीव्र लू चलने का ‘रेड अलर्ट’

मौसम विभाग ने बुध्रवार को भोपाल सहित रायसेन, राजगढ, खरगोन, रतलाम, शाजापुर, आगरमालवा, ग्वालियर, दतिया, गुना, भिंड, मुरैना, श्योपुर, रीवा सतना, सीधी, सिंगरौली, उमरिया, शहड़ोल, छतरपुर, सागर, दमोह और बैतूल में तीव्र लू चलने का ‘रेड अलर्ट’ जारी कर लोगों को चेतावनी दी है। 


गुजरात में बढ़ा ख़तरा

 गुजरात के तट से गुरुवार को 'वायु' चक्रवाती तूफान के टकराने की आशंका है। इसके मद्देनजर केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा युद्ध स्तर पर तैयारियां की जा रही है। गुजरात के कुछ जिलों में इस तूफान का जबर्दस्त असर दिखाई देगा| मौसम विज्ञान विभाग की तरफ से जारी बुलेटिन में कहा गया है कि चक्रवाती तूफान अभी गुजरात के पोरबंदर और महुवा के बीच वेरावल से 650 किलोमीटर दूर दक्षिण में बना है। इसके वेरावल और दीव के क्षेत्र के आसपास तट से टकराने की आशंका है। विभाग ने अगले 12 घंटे में इसके और मजबूत होने की आशंका भी जताई है। तटीय जिलों में बाढ़ का खतरा तूफान के प्रभाव से गुजरात के सौराष्ट्र और कच्छ के तटीय जिलों में भारी वर्षा होगी। गुजरात और दीव के तटवर्ती इलाकों में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की 39 टीमें तैनात की गई हैं। सेना की 34 टीमों को भी अलर्ट पर रखा गया है। वायु सेना ने राहत और बचाव कार्यों के लिए एक सी-17 ट्रांसपोर्ट विमान को तैनात किया है। 

"To get the latest news update download the app"