अब सिंधिया ने उठाए अपनी ही पार्टी पर सवाल, बोले- आत्म अवलोकन की जरूरत

भोपाल। कांग्रेस में लगातार उठापटक जारी है। पार्टी नेतृत्व पर बार बार सवाल खड़े हो रहे हैं। पार्टी में लगातार घमासान जारी है। राष्ट्रीय स्तर के नेता अपनी ही पार्टी को नसीहत देने से लगे हैं। पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने पार्टी को कमज़ोर बताया था। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का पद छोड़ना दुर्भाग्यपूर्ण है। उनके बाद अब पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर में बयान दिया है कि कांग्रेस को आत्म अवलोकन की जरूरत है। 

सिंधिया ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि मैं किसी और की टिप्पणी पर कुछ नहीं कहना चाहूंगा, लेकिन इसमें कोई शक नहीं है कि कांग्रेस को आत्मनिरिक्षण करने की जरूरत है।' मालूम हो कि सलमान खुर्शीद ने अपनी ही पार्टी की आलोचना करते हुए कहा था कि कांग्रेस की जो स्थिति है, उसमें महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव जीतने की संभावना नहीं है। पार्टी संघर्ष के दौर से गुजर रही है और अपना भविष्य तक तय नहीं कर सकती। 

उन्होंने कहा था कि हमारी सबसे बड़ी समस्या यही है कि हमारे नेता (राहुल गांधी) हमें छोड़ कर चले गए। लोकसभा चुनावों में पार्टी की हार के बाद हम एकजुट होकर विश्लेषण नहीं कर पाए हैं कि हमारी हार क्यों हुई है। हमारी सबसे बड़ी समस्या यह है कि हमारे नेता दूर चले गए हैं। उनके जाने के बाद यह एक तरह का खालीपन है।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव पर बोलते हुए उन्होंने सिंधिया ने कहा कि मेरा काम टिकट वितरण तक था। अब बाकी का काम वहां का संगठन देख रहा है और निश्चित ही कांग्रेस को वहां सफलता हासिल होगी। यकीनन क्षेत्रीय संगठन और महासचिव की भूमिका चुनाव के दौरान महत्वपूर्ण रहती है. महाराष्ट्र में हमारे चार मुख्यमंत्री सहित अन्य नेता जिम्मेदारी संभाल रहे हैं और इसी वजह से कांग्रेस को मेहनत से चुनाव में अच्छी सफलता मिलेगी।


"To get the latest news update download the app"