मंत्री के बयान से नाराज संविदा स्वास्थ्यकर्मी, विरोध में गधे को पहनाई माला और दी नसीहत

गुना।

मध्यप्रदेश के गुना जिले में संविदाकर्मियों ने स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह के बयान पर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने गधे को फूलों की माला पहनाकर अपना विरोध जताया। इसके साथ ही उन्हें एक नसीहत भी दे डाली। इस अनूठे विरोध प्रदर्शन को देखने वालों की भीड़ लग गई।मंत्री के बयान के बाद से ही संविदाकर्मियों में रोष व्याप्त है।

बीते दिनों मंत्री ने संविदाकर्मियों की मांगों का नाजायज बताया था, जिसको लेकर संविदा स्वास्थ्यकर्मियों में मंत्री के खिलाफ आक्रोश है । उन्होंने इसके विरोध में गधे को माला पहनाई और सरकार को नसीहत भी दी।इसके साथ ही गधे के गले में तख्ती टांगते हुए संविदाकर्मियों ने 'हमारी जायज़ मांगों को नाजायज़ बताने वाले जायज़ मंत्री का सम्मान' लिखने के बाद नारेबाजी की। संविदाकर्मियों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए गधे को सम्मानित भी किया।

ये है मांगे

नियमितिकरण के साथ ही अप्रेजल प्रक्रिया बंद करने और पूर्व में निष्कासित संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की बहाली की मांग को लेकर  अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने खाली पदों पर संविलियन करने की मांग की है।

बता दे कि पिछले 28  दिनों से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे संविदा स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा सरकार को रिझाने के लिए हर रोज अनोखे प्रदर्शन कर रहे है कभी चूल्हे पर रोटी सेककर, तो कभी बाजार में भीख मांगकर, तो कभी हाथी को मगरुर सरकार बताकर,तो कभी व्हीलचेयर पर बैठकर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किये जा रहे हैं। नियमतिकरण की मांग को लेकर संविदाकर्मियों ने हर संभव प्रयास किये हैं।हड़ताल के कारण पूरे प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई है। शासकीय अस्पतालों में इन दिनों टीबी विभाग के दवा वितरण, मलेरिया विभाग, कुपोषण केंद्र, गंभीर चिकित्सा एसएनसीयू इकाई, आरसीएच शाखा, आरबीएसके , निशुल्क दवा वितरण ,टीकाकरण जैसी योजनाएं पूरी तरह ठप हो गई है। 


"To get the latest news update download tha app"