राजा के गढ़ में अतिथि बन पहुंचे महाराजा...देखिये वीडियो

गुना| चुनावी साल में नए समीकरणों की चर्चा जोरो पर है| सालों पुरानी सियासी तकरार अब मिटती नजर आ रही है| राजा के घर महाराजा अतिथि बनकर पहुंचे तो प्रदेश की सियासत में हलचल मच गई| एक दूसरे के विरोधी माने जाने वाले दिग्विजय और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच सम्बन्ध को लेकर अक्सर चर्चा होती रही है, लेकिन आज राजकुमार के निमंत्रण पर महाराजा अतिथि बनकर पहुंचे| रियासत काल से ही दोनों राजघरानों में प्रतिद्वंदिता चली आ रही है। यह प्रतिद्वंदिता राजनीति में भी रही, लेकिन नए समीकरण चर्चा का विषय है| 

सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया राघौगढ़ स्थित दिग्विजय सिंह के महल पहुंचे | जहां उनका जोरदार स्वागत किया गया। बड़ी संख्या में यहां स्थानीय कांग्रेस नेता समेत कई नेता मौजूद थे। मीडिया ने जब गुना सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया से उनके आने की वजह के बारे में पूछा तो सिंधिया का कहना है कि वे एक परंपरा का निर्वाह कर रहे हैं और इससे पहले उनके पिता भी यहां चुके हैं| इस दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि राघौगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह राजनीति की जगह जन सेवा से प्रेरित हैं और आज उनके साथ लंच लेकर उन्हें बहुत अच्छा लगा |

शिवराज से अब जनता हिसाब लेगी, उलटी गिनती हो गई शुरू 

सिंधिया ने CM शिवराज सिंह चौहान की नर्मदा यात्रा को लेकर भी तंज कसा उन्होंने कहा कि CM को अब हिसाब देने का समय आ चुका है और जनता हिसाब लेगी पहले ही बता चुका हूं मैं की यह सेमीफाइनल नहीं है यह फाइनल है मैंने अपने दौरे के दौरान देखा कि जनता काफी उदास है और परिवर्तन के लिए लालायित है CM पौधे लगाने की शपथ लें लेकिन अब जनता उनसे हिसाब लेगी कर्नाटक चुनाव को लेकर भी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस सरकार बनाने के लिए कटिबद्ध है राज्यपाल से भी मिल चुके हैं और भाजपा की जो कोशिश है की चट भी मेरी और पट भी मेरी जो गोवा और मणिपुर में हुआ वह अब कर्नाटक के लिए अवैध हो गया |जबकि प्रजातंत्र में एक रूल सभी के लिए होता है नियम आपके कन्विंस के आधार पर बदले नहीं जाते हो और इसीलिए आज प्रजातंत्र खतरे में है|  सिंधिया ने कहा संविधान आज खतरे में है|  नियम और कानून आज खतरे में है | देश का एक-एक नागरिक आज खतरे में है और यह बारंबार मोदी जी और उनकी सरकार प्रमाणित कर रही है कि किस तरीके से इस पूरे प्रजातंत्र को कुचलने का काम उनकी सरकार कर रही है यह अब ज्यादा दिन नहीं चलने वाला क्योंकि एनडीए सरकार की भी अब उलटी गिनती शुरु हो चुकी है|


जयवर्धन भी मुलाक़ात से खुश 

जयवर्धन सिंह जो कि पूर्व CM दिग्विजय सिंह के पुत्र हैं और वर्तमान में राधौगढ़ से विधायक भी हैं उनसे भी जब मीडिया ने बात की तो उनका कहना था कि सिंधिया के निकलने के दौरान उन्हें लंच पर इनवाइट कर लिया और उनके साथ लंच करना उन्हें बहुत अच्छा लगा | राजनीति के दिग्गज माने जाने वाले दिग्विजय सिंह और उनके बेटे जयवर्धन सिंह और गुना सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का आगमन को लेकर लोग कई तरह के कयास लगा रहे हैं  तो वहीं चुनाव नजदीक हैं | इसलिए राजनीति के समीकरण और जानने वाले उनके एक साथ के लंच की सियासी तस्वीर को कांग्रेस की एकजुटता की फ्रेम मैं लगाकर देख रही हैं |