चकमा देकर फरार बांग्लादेशी घुसपैठिया, पुलिस के हाथपैर फूले

ग्वालियर। पड़ाव पुलिस की अभिरक्षा में पिछले 9 महीने से रह रहा बांग्लादेशी घुसपैठिया अहमद अलमक्की फरार हो गया। पुलिस आरक्षक नमाज पढ़वाकर लौटाकर ला रहा था तभी वो चकमा देकर भाग निकला।

अहमद अलमक्की को पड़ाव थाना पुलिस ने 21 सितम्बर 2014 को सिम खरीदने के लिए दिए गए दस्तावेजों के शक के आधार पर दुकानदार की जागरूकता के चलते गिरफ्तार किया था। जांच पड़ताल के बाद अलमक्की के पास से फर्जी पासपोर्ट भी मिला था जिसके बाद न्यायालय ने उसे तीन साल की सजा सुनाई थी। सजा पूरी  होने के बाद उसे जेल से रिहा कर दिया गया था । चूँकि अलमक्की अपना सही ठिकाना नहीं बता पा रहा था और पुलिस लगातार बांग्लादेशी दूतावास से संपर्क में थी इसलिए उसे पड़ाव पुलिस की अभिरक्षा में रखा गया था। 

लम्बे समय तक थाने में रहने के चलते उसकी स्टाफ से दोस्ती हो गई। और उसे साडी सुविधाए मुहैया होने लगीं।  रमजान के चलते आरक्षक विजय शंकर जब उसे एजी ऑफिस स्थित मस्जिद से नमाज पढ़वाकर लौट रहा था तभी अलमक्की एल आई सी तिराहे से भाग गया।