Breaking News
फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग | राहुल के भोपाल दौरे पर वीडियो वार..'कांग्रेस हल है या समस्या' | कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन: 11 कन्याओं ने उतारी राहुल की आरती, 21 पंडितों ने किया मंत्रोचार |

80 कॉलेजों की सम्बद्धता समाप्त, विवि के खिलाफ लामबंद हुए कॉलेज संचालक

ग्वालियर। नियम और शर्तों का पालन नहीं करने वाले 80 सरकारी और निजी कॉलेजों की सम्बद्धता जीवाजी विश्वविद्यालय ने समाप्त कर दी है। सम्बद्धता समाप्त हो जाने से इन कॉलेजों के सामने नए शिक्षण सत्र 2018- 19 में प्रवेश को लेकर संकट मंडराने लगा है। सम्बद्धता रोकने के पीछे विवि ने शिक्षकों की नियुक्ति और मान्यता को आधार बनाया है। इनमे कुछ बीएड और लॉ कॉलेज ऐसे हैं जिन्हें शासन की मान्यता ही नहीं है। और कुछ सरकारी कॉलेज ऐसे हैं जिनके लॉ कोर्स को कई वर्षों से बार काउन्सिल ऑफ़ इण्डिया की मान्यता नहीं है। ऐसे कॉलेजों को विश्वविद्यालय प्रशासन ने कई बार चेतावनी पत्र जारी किये लेकिन उसके बावजूद कॉलेजों ने मान्यता के लिए कपि प्रयास नहीं किये। 

उधर विश्वविद्यालय से सम्बद्धता समाप्त होने के बाद कॉलेज संचालक लामबंद होने लगे हैं। उनका आरोप है कि विवि प्रशासन बिना किसी ठोस कारण के सम्बद्धता समाप्त कर रहा है। कॉलेज संचालक कुलपति और कुलसचिव से मिलकर इस मामले में अपनी आपत्ति भी दर्ज करा चुके हैं। जानकारों की मानें तो अब ये कॉलेज संचालक जल्दी ही विवि के अधिकारीयों को घेरने की रणनीति बना रहे हैं। उधर विवि प्रशासन ने साफ़ कर दिया है कि जी कॉलेज नियम और शर्तों का पालन नहीं करेगा उसे किसी भी हाल में सम्बद्धता नहीं दी जाएगी।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...