Breaking News
जेल की हवा खाने वाली 'भांजियों' को नहीं मिलेगी ऊंचाई में छूट! | कैबिनेट बैठक, इन अहम प्रस्तावों को मिली मंजूरी | आईएएस दीपाली रस्तोगी का नया फरमान फिर चर्चाओं में.. | आईएएस दीपाली रस्तोगी का नया फरमान फिर चर्चाओं में.. | कांग्रेस के पोस्टर वॉर पर बोले पवैया- सूत न कपास, जुलाहों मैं लट्ठमलट्ठा | अगला CM कौन... 'सिंधिया' या 'कमलनाथ', पोस्टर वॉर से कांग्रेस में मचा घमासान | जूडा का अनोखा विरोध, MYH के सामने लगाई समानांतर ओपीडी | संगठन नहीं शिवराज के चेहरे पर ही चुनाव लड़ेगी भाजपा | अटकलों पर लगा विराम, किसी भी कीमत पर नही बिकेगा किशोर कुमार का पुश्तैनी घर | अंतर्राज्यीय चंदन तस्कर गिरोह का पर्दाफाश, वर्दी का रौब दिखाकर करते थे तस्करी |

हॉकर्स जोन में अतिक्रमण देख भड़की मंत्री, अफसरों को लगाई फटकार

ग्वालियर। शहर में बीच बाजारो  में खड़े होने वाले ठेलों को एक जगह व्यवस्थित व्यापार करने की जगह मुहैया करने के उद्देश्य को लेकर नगर निगम ने हॉकर्स जोन बनाये हैं लेकिन इन हॉकर्स जोन में ठेले नहीं लगते बल्कि यहाँ अतिक्रमण हो रहा है। निरीक्षण के दौरान मंत्री माया सिंह अतिक्रमण को देखकर भड़क गई और उन्होंने अफसरों को जमकर फटकार लगा दी।

प्रदेश की नगरीय विकास एवं आवास मंत्री और ग्वालियर पूर्व  विधानसभा क्षेत्र की विधायक श्रीमती माया सिंह मुरार क्षेत्र में निरीक्षण के  दौरान उस समय नाराज हो गईं जब उन्होंने त्यागी नगर में बने हॉकर्स जोन में ठेलों की जगह अतिक्रमाब देखा। मौके पर मौजूद नगर निगम उपायुक्त को फटकार लगाते हुए मंत्री माया सिंह ने कहा कि "ये क्या है हॉकर्स जोन में ठेलों की जगह अतिक्रमण हो रखा है, ये क्या व्यवस्था है, यहाँ से तत्काल अतिक्रमण हटवाओ और सूची बनाकर सड़क पर खड़े ठेलों को इसमें शिफ्ट करवाओ। जिससे वो एक जगह अपना व्यवसाय कर सकें और सड़क पर यातायात सुचारू रूप से चल सके ।

उल्लेखनीय है कि ग्वालियर शहर के बाजारों में सड़क पर व्यापार करने वाले ठेले यातायात व्यवस्था को चौपट कर देते हैं। इसी के चलते नगर निगम ने  अलग अलग क्षेत्रों में हॉकर्स जोन बनाये हैं  जिससे वहां ठेलों को पहुंचाया जाये और यातायात को व्यवस्थित किया जाये। 

मंत्री माया सिंह ने नगर निगम के अफसरों को सख्त हिदायत दी है की शहर में जितने भी हॉकर्स जोन हैं वहां के आसपास के ठेलों की सूची बनाकर उन्हें हॉकर्स जोन में पहुंचाएं और यातायात को व्यवस्थित करें।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...