वन अफसरों ने ऊंट पकड़े, पैसे देकर छोड़ा, वीडियो वायरल

ग्वालियर। सोन चिरैया अभियारन्य घाटीगाँव के तिघरा गेमरेंज के संरक्षित वन क्षेत्र में अवैध चराई के आरोप में वन विभाग के अफसरों ने कई ऊंट पकड़े। लेकिन पकड़ने के बाद उन्हें पैसे लेकर रफा दफा कर दिया। मामले का वीडियो वायरल हो गया जिसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों ने जांच के आदेश दिए हैं। 

सोन चिरैया अभयारन्य में पशु चराई पर प्रतिबन्ध है। इसके बावजूद स्थानीय ग्रामीण जहाँ चोरी छिपे भेड़ बकरियां चराते हैं वहीं राजस्थान से  ग्रामीण ऊंट लेकर आते हैं और वन क्षेत्र में  अवैध चराई करते हैं। लेकिन अब एक ऐसा मामला सामने आया है जिससे पता चलता है की वन विभाग के कर्मचारी अधिकारी ऐसे पशुपालकों को पकड़कर उनसे अवैध वसूली कर रहे हैं ।

बीते दो दिनों से एक ऐसा ही वीडियो वायरल हो रहा है । जिसे संभवत तिघरा गेम रेंज के अंतर्गत आने वाले बरई-पनिहार के पास हाइवे पर बनाया गया है। वीडियो में सड़क पर बहुत से ऊंट दिखाई दे रहे हैं  और मोटर साईकिल पर आया एक वन कर्मी  ऊंट लेकर चल रहे व्यक्ति का कॉलर पकड़कर उससे पैसे मांग रहा है। 

ऊंट लेकर चल रहा व्यक्ति मिन्नतें कर कहता है कि मैं तो नौकर हूँ मालिक आकर बात कर लेंगे। इसके बाद वो फोन पर किसी से बात  कराता है उसके बाद वन कर्मचारी उंट लेकर जा रहे व्यक्ति मो अपने साथ जबरन मोटर साईकिल पर बैठाकर ले जाता है। सूत्रों की माने तो मुख्य ऊंट पालक यानि मालिक के आने पर पैसे लेकर मामले को रफा दफा कर दिया जाता है। 

मामला सामने आने के बाद सोन चिरैया अभयारन्य घाटीगांव के अधीक्षक जी एल जोनवार ने इसे गंभीरता से लिया है। उनका कहना है कि वायरल हो रहा वीडियो बरई-पनिहार के पास वाले हाइवे का है। यहाँ ऊंटों के साथ जा रहे चरवाहों को डिप्टी रेंजर फूल सहाय और एक चौकीदार ने रोका था। इसमें पैसों का लेनदेन हुआ है कि नहीं इसकी जानकारी उन्हें नहीं है । इसकी जांच उन्होंने तिघरा गेम रेंज की वन परिक्षेत्र अधिकारी ज्योति छावरिया को सौंप दी है और उन्हें जल्दी इस मामले की रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है।


"To get the latest news update download tha app"