Breaking News
जेल की हवा खाने वाली 'भांजियों' को नहीं मिलेगी ऊंचाई में छूट! | कैबिनेट बैठक, इन अहम प्रस्तावों को मिली मंजूरी | आईएएस दीपाली रस्तोगी का नया फरमान फिर चर्चाओं में.. | आईएएस दीपाली रस्तोगी का नया फरमान फिर चर्चाओं में.. | कांग्रेस के पोस्टर वॉर पर बोले पवैया- सूत न कपास, जुलाहों मैं लट्ठमलट्ठा | अगला CM कौन... 'सिंधिया' या 'कमलनाथ', पोस्टर वॉर से कांग्रेस में मचा घमासान | जूडा का अनोखा विरोध, MYH के सामने लगाई समानांतर ओपीडी | संगठन नहीं शिवराज के चेहरे पर ही चुनाव लड़ेगी भाजपा | अटकलों पर लगा विराम, किसी भी कीमत पर नही बिकेगा किशोर कुमार का पुश्तैनी घर | अंतर्राज्यीय चंदन तस्कर गिरोह का पर्दाफाश, वर्दी का रौब दिखाकर करते थे तस्करी |

जमीन पर गिरा नवजात, हुई मौत, परिजनों का हंगामा

ग्वालियर।

जयारोग्य अस्पताल समूह के कमलाराजा अस्पताल में नवजात की मौत पर परिजनों ने हंगामा कर दिया । परिजनों ने आरोप लगाया कि जन्म के बाद स्टाफ नर्स की लापरवाही से बच्चा जमीन पर गिर गया जिससे उसके सिर में चोट लग गई और उसकी मौत हो गई। जबकि अस्पताल प्रबंधन ने किसी भी लापरवाही से इंकार किया है। 

कमलाराजा अस्पताल में लक्ष्मीगंज निवासी मालती जाटव को प्रसव पीड़ा के चलते उसकी मां मुन्नीबाई ने मंगलवार को भर्ती कराया। जहाँ उसने मंगलवार बुधवार की दरमियानी रात एक बालक को जन्म दिया। मुन्नीबाई के मुताबिक प्रसव पलंग पर ही हुआ क्योंकि दिनभर  मालती दर्द से तड़पती रही लेकिन स्टाफ ने कोई ध्यान नहीं दिया। जब पलंग पर बच्चा हुआ तो स्टाफ नर्स ने उसे उठाया और बच्चा उसके हाथ से छूटकर जमीन पर गिर गया। स्टाफ ने तत्काल उसे SNCU में भर्ती करा दिया और कल मरा हुआ बच्चा थमाकर कह दिया कि उसकी मौत हो गई ।

नवजात की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया और कार्रवाई की मांग करने लगे। परिजनों ने आरोप लगाये कि बच्चे और मां को एक भी दिन नहीं मिलने दिया गया । यदि अस्पताल लापरवाही नहीं करता तो उनका बच्चा जीवित होता। हंगामे की सूचना पर महिला कांग्रेस जिला अध्यक्ष कमलेश कौरव भी साथियों के साथ अस्पताल पहुँच गई। और कार्रवाई की मांग करने लगी।

उधर अस्पताल की सहायक अधीक्षक डॉ रीता मिश्रा ने लापरवाही की बात से इंकार करते हुए कहा की बच्चा 7 महीने का था और कमजोर था। मालती को प्री मेच्योर डिलीवरी हुई थी। उसकी देखभाल की गई लेकिन वो बच नहीं पाया। उन्होंने बच्चा स्टाफ नर्स के हाथ से गिरने के आरोपों को नकार दिया। डॉ रीता मिश्रा ने कहा कि हम पोस्ट मार्टम करा देते हैं यदि गलती होगी तो उस हिसाब से कार्रवाई की जाएगी जिसके बाद परिजनों ने पोस्ट मार्टम कराने से इंकार कर दिया और बच्चे के शव को लेकर वहां से चले गए।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...