राहुल के दौरे से पहले यहां कांग्रेस ने शुरू की दावेदारों से चंदा वसूली!

भोपाल/ग्वालियर। मध्यप्रदेश में कांग्रेस ने अपना आर्थिक संकट दूर करने के लिए चंदा वसूली एक बार फिर शुरू कर दी है। ग्वालियर-चंबल के दो दिवसीय दौरे पर आ रहे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को खुश करने और इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए दावेदारों से चंदा वसूली शुरू कर दी है। टिकट के दावेदारों की चंबल और ग्वालियर में लंबी फेहरिस्त है। इसी का फायदा उठाते हुए दावेदारों से 25 से 50 हजार रुपए तक कार्यक्रम के नाम पर चंदा वसूला जा रहा है। 

सूत्रों के मुताबिक ग्वालियर अध्यक्ष ने इस काम के लिए अपने खास शख्स को चुना है। सब जानते हैं कांग्रेस की आर्थिक स्थिति खराब है। ऐसे में चुनाव से पहले इस तरह चंदा वसूली करना उसकी छवि को और ज्यादा नुकसान पहुंचा सकता है। पहले भी दावेदारों से प्रदेश कांग्रेस ने 50 हजार रुपए का ड्राफ्ट मांगा था, लेकिन जब कमलनाथ प्रदेश अध्यक्ष बने तो उन्होंने सभी के ड्राफ्ट वापस लौटा दिए थे।

दरअसल, राहुल गांधी 15 अक्टूबर को ग्लावियर की तीन विधानसभा सीटों पर रोड शो करेंगे। ग्वालियर सिंधिया का क्षेत्र है यहां से कार्यक्रम में किसी भी तरह की कमी न रह है इसके लिए सिंधिया ने खास निर्देश दिए हैं। लेकिन मजे की बात तो यह है कि दावेदार भी चंदा देने में खुश हैं। उन्हें किसी बात से गिला शिकवा नहीं है। इसके पीछे का कारण है टिकट की चाहत। कौन कब किसे टिकट दिनाले में मददगार साबित हो जाए। ये कोई नहीं जानता लिहाजा पार्टी को सपोर्ट करने के लिए दावेदार चंदे के नाम पर ये रकम देने में कतरा नहीं रहे हैं। 

इन्होंने चंदे के लिए भरी हामी

शहर के बड़े नेताओं से कांग्रेस ने संपर्क किया। लिहाजा उन्हें राहुल के कार्यक्रम के बारे में बताया। साथ ही कार्यक्रम में होने वाले खर्च के लिए चंदे एकत्र करने की भी जानकारी दी। इस बात पर कांग्रेसियों ने हामी भरदी। सूत्रों के मुताबिक पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल 50 हजार, प्रद्युम्न सिंह तोमर, सुनील शर्मा, सुरेन्द्र शर्मा, मुन्नालाल गोयल सहित कई कांग्रेसियों ने 25 -25 हजार रुपए देने की हामी भर ली है।