Breaking News
चुनाव से पहले शिवराज पुत्र राजनीति में सक्रिय, कांग्रेस नेताओं को बताया राजनैतिक मेंढक | मानसून सत्र छोटा रख सदन में चर्चा से बचना चाह रही शिवराज सरकार : कमलनाथ | नेता प्रतिपक्ष ने विधानसभा अध्यक्ष को लिखा पत्र! | VIDEO : अविश्वास की आरोप कथा, अर्जुन सिंह को दी गयी नशीली दवाएं ? | फर्जी पासपोर्ट मामला : एयरपोर्ट से पकड़ाया नाइजीरियन नागरिक दोषी करार, कोर्ट ने सुनाई सजा | बिजली कर्मचारियों की चेतावनी -10 दिन में नियमित करो, नही तो करेंगें प्रदेशभर में काम बंद | कलेक्टर को देख भागे रेत माफिया..! | MP : 11 हजार करोड़ का अनूपूरक बजट विधानसभा में पेश, मंगलवार को होगी चर्चा | दीपिका कुमारी ने रचा इतिहास, 6 साल बाद भारत को दिलाया वर्ल्ड कप में गोल्ड | पहल बनी मिसाल : ये स्कूल हुआ तम्बाकू मुक्त, बच्चे करते हैं निगरानी |

स्कूलों से गायब मिले शिक्षक-शिक्षका तो कटेगी एक दिन की सैलरी

हरदा

मध्यप्रदेश के हरदा जिले में 28 फरवरी से प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं की परीक्षाएं प्रारंभ होने जा रही हैं।जिसके चलते अगर कोई शिक्षक अनुपस्थित पाया गया तो उनका एक दिन का वेतन काटा जाएगा। इसके लिए पहले ही सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया जा चुका है।यह नोटिस बीआरसी उमाकांत वर्मा ने जारी किया है।इस दौरान बीईओ और बीआरसी ने माशा प्रतापपुरा, प्राशा गोपालपुरा, माशा जूनापानी, मक्तापुर, भवरदीमाल में परीक्षा की तैयारी एवं बच्चों की शैक्षणिक गुणवत्ता का अवलोकन किया।

दरअसल, आज शनिवार को बीईओ डीएस रघुवंशी और बीआरसी उमाकांत वर्मा ने संयुक्त रूप से दल के साथ ब्लॉक के गांवों में पहुंचकर प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूलों का निरीक्षण करने पहुंचे।जहां ग्राम टेमलाबाड़ी का माध्यमिक स्कूल की सुबह 11.10 बजे तक बंद था, वहां ना तो कोई शिक्षक था और ना कोई बच्चे।शाला में पदस्थ प्रधानपाठक बद्रीसिंह राजपूत एवं शिक्षिका शीला ठाकुर अनुपस्थित मिले। इसके बाद उन्होंने गांव के बच्चों को बुलाकर कर प्रार्थना करवाई।पिछले एक सप्ताह के दौरान बीआरसी उमाकांत वर्मा द्वारा किए गए विभिन्न स्कूलों के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान  9 स्कूलों में 11 सहायक अध्यापक बिना अवकाश आवेदन के गैर हाजिर पाए गए थे।जिनके विरुद्घ वर्मा द्वारा कार्रवाई के लिए डीपीसी को पत्र लिखा गया था। जिसमें शाला से अनुपस्थित मिले शिक्षक-शिक्षिका को कारण बताओ नोटिस के साथ एक दिन के वेतन काटने की कार्रवाई का प्रतिवेदन वरिष्ठ कार्यालय को भेजा गया है।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...