Breaking News
व्यापमं का जिन्न फिर बाहर: दिग्विजय ने शिवराज, उमा समेत 18 के खिलाफ किया परिवाद दायर | चुनाव लड़ने का इंतजार कर रहे बीजेपी के 70 विधायकों में मचा हड़कंप! | अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित |

स्कूलों से गायब मिले शिक्षक-शिक्षका तो कटेगी एक दिन की सैलरी

हरदा

मध्यप्रदेश के हरदा जिले में 28 फरवरी से प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं की परीक्षाएं प्रारंभ होने जा रही हैं।जिसके चलते अगर कोई शिक्षक अनुपस्थित पाया गया तो उनका एक दिन का वेतन काटा जाएगा। इसके लिए पहले ही सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया जा चुका है।यह नोटिस बीआरसी उमाकांत वर्मा ने जारी किया है।इस दौरान बीईओ और बीआरसी ने माशा प्रतापपुरा, प्राशा गोपालपुरा, माशा जूनापानी, मक्तापुर, भवरदीमाल में परीक्षा की तैयारी एवं बच्चों की शैक्षणिक गुणवत्ता का अवलोकन किया।

दरअसल, आज शनिवार को बीईओ डीएस रघुवंशी और बीआरसी उमाकांत वर्मा ने संयुक्त रूप से दल के साथ ब्लॉक के गांवों में पहुंचकर प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूलों का निरीक्षण करने पहुंचे।जहां ग्राम टेमलाबाड़ी का माध्यमिक स्कूल की सुबह 11.10 बजे तक बंद था, वहां ना तो कोई शिक्षक था और ना कोई बच्चे।शाला में पदस्थ प्रधानपाठक बद्रीसिंह राजपूत एवं शिक्षिका शीला ठाकुर अनुपस्थित मिले। इसके बाद उन्होंने गांव के बच्चों को बुलाकर कर प्रार्थना करवाई।पिछले एक सप्ताह के दौरान बीआरसी उमाकांत वर्मा द्वारा किए गए विभिन्न स्कूलों के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान  9 स्कूलों में 11 सहायक अध्यापक बिना अवकाश आवेदन के गैर हाजिर पाए गए थे।जिनके विरुद्घ वर्मा द्वारा कार्रवाई के लिए डीपीसी को पत्र लिखा गया था। जिसमें शाला से अनुपस्थित मिले शिक्षक-शिक्षिका को कारण बताओ नोटिस के साथ एक दिन के वेतन काटने की कार्रवाई का प्रतिवेदन वरिष्ठ कार्यालय को भेजा गया है।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...