वैकल्पिक मीडिया ने जमीनी स्तर के संचार को नई दिशा प्रदान की : एसपी राजेश कुमार सिंह

हरदा/ वैकल्पिक मीडिया ने जमीनी स्तर के संचार को नई दिशा प्रदान की है और स्थानीय मीडिया को सशक्त बनाने की जरूरत अब पहले से ज्यादा हो गई है ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में सूचना के प्रवाह को और तेज किया जा सके। यह बात हरदा जिले के एसपी श्री राजेश कुमार सिंह ने पीआईबी, भोपाल द्वारा आयोजित मीडिया कार्यशाला वार्तालाप को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि मीडिया जनमत निर्माण का काम करता है और समाज में सकारात्मक माहौल बनाने में इसकी बड़ी भूमिका है। श्री सिंह ने कहा कि संचार के क्षेत्र में स्पष्टता बहुत आवश्यक है और पत्रकारों को सिर्फ डिमांड आधारित खबरों को ही तरजीह नहीं देनी चाहिए। उन्होंने पत्रकार बंधुओं से आह्वान किया कि वे समाज में एक सकरात्मक माहौल बनाएं और अपने समाचार पत्रों और टीवी चैनलों में सकारात्मक खबरों को ज्यादा से ज्यादा महत्व दें।

जिला पंचायत सीईओ श्री एच.एस. मीणा ने ग्रामीण विकास में मीडिया की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि लोककल्याणकारी राज्य में जनता का हित सर्वोपरि होता है और सरकार जनता के हित को ध्यान में रखकर ही योजना बनाती है। श्री मीणा ने कहा कि सूचना के अधिकार के तहत कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि योजनाओं के सफल कार्यान्वयन में मीडिया की अहम भूमिका है। उन्होंने विविध ग्रामीण विकास योजनाओं के बारे में पत्रकारों बंधुओं से जानकारी साझा की और उनसे इनकी सफलता में सक्रिय योगदान देने की अपील की।

इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार श्री प्रहलाद शर्मा ने कहा कि अब पत्रकारिता को उद्योग बना दिया है, जो दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा अब भी देश की 80 फीसदी आबादी गावों में बसती है और ज्यादातर समाचार गांवों से ही आते हैं। उन्होंने कहा पत्रकारिता को व्रत के रूप में लेना चाहिए। श्री शर्मा ने पत्रकारों की बहुत सी समस्याओं पर ध्यान आकर्षित कराया। उन्होंने पत्रकारों की आर्थिक समस्याओं का भी जिक्र किया।

पीआईबी, भोपाल के श्री प्रेम चन्द्र गुप्ता ने विभाग की कार्यविधियों से पत्रकार बंधुओं को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि पीआईबी भारत सरकार का अधिकृत प्रवक्ता है। श्री गुप्ता ने कहा कि मीडिया सरकार और आम जनता के बीच की कड़ी है जो सूचनाओं के आदान प्रदान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उन्होंने सूचना प्रवाह की दिशा में टेक्नॉलजी के बढ़ते प्रभाव भी प्रकाश डाला। कार्यशाला को वरिष्ठ पत्रकार श्री महेंद्र कौशिक, सुनील जैन, सन्देश पारे, प्रवीण सिंह तंवर, राम नेमा, मुकेश शांडिल्य समेत कई पत्रकारों ने संबोधित किया। कार्यशाला में पत्रकार बंधुओं ने अपनी समस्याओं को रखा और अधिकारियों ने उनके समाधान के उपाय भी बताए। कार्यशाला में मंच संचालन श्री लोमेश कुमार गौर ने किया और उन्होंने बीच- बीच में कई महत्वपूर्ण जानकारियां भी साझा कीं। कार्यशाला में पीआईबी, भोपाल के श्री रमेश चंद्र सामल, सुश्री अर्चना कुमारी, श्री शंकर राव डोंगरे और श्री नारायण सेन ने भी हिस्सा लिया।

"To get the latest news update download tha app"