आचार संहिता से पहले घोषणाओं की बरसात, महीने भर में 12 हजार करोड़ की सौगात

भोपाल

प्रदेश में साल के अंत में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार(6 अक्टूबर) को आचार संहिता लगने के अंदेशे से राजनीतिक दलों में खूब हड़बड़ी रही।एक तरफ जहां आचार संहिता की आहट को देखते हुए मंत्रियों और विधायकों ने 48 घंटे के भीतर 2415 करोड़ रुपए के करीब 352 विकास कार्यों का भूमिपूजन, शिलान्यास और लोकार्पण कर दिया। वही मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी ऐसे में कई घोषणाएं करने में पीछे नहीं रहे। उन्होंने भी जनता को साधने के लिए करीब बारह हजार करोड़ की कई सौगाते दे डाली।खास बात ये है कि इन सौगातों में हर उस वर्ग को साधा गया जो सरकार के खिलाफ हो सकता था। शिवराज सरकार की ये चुनावी बैचेनी थी, जो आचार संहिता से ठीक पहले सामने आई।


दरअसल, चुनाव की तारीखों की घोषणा के बाद आदर्श आचार संहिता प्रभावी हो जाती है।ऐसे में जिसके तहत नई योजना की घोषणा नहीं की जा सकती है। शिलान्‍यास व उद़घाटन के कार्यों पर रोक लग जाती है। हालांकि कुछ मामलों में चुनाव आयोग की अनुमति से ऐसा हो सकता है। इसी के चलते प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ने मास्टरस्ट्रोल खेला और आचार संहिता लगने के सिर्फ एक महीने पहले सरकार ने विकास कार्यों को लेकर ताबड़तोड़ भूमिपूजन और शिलान्यासों पर बड़ा बजट खर्च करने का एलान कर डाला। हैरानी की बात ये है कि ये आंकड़ा सरकार के 2018-19 के पहले अनुपूरक बजट 11 हजार 190 करोड़ से भी कहीं ज्यादा है। शिवराज की तबाड़तोड़ घोषणाओं के बाद सियासी पारा चरम पर पहुंच गया है ।कांग्रेस ने सरकार के विकास कार्यों के किए गए भूमिजपून को लेकर सवाल उठाए हैं। कांग्रेस ने आचार संहिता के पहले और आचार संहिता लागू होने के बाद बैक डेट में करोड़ों के कामों को दी गई मंजूरी पर चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है।


ये है शिवराज की 12  करोड़ की सौगाते

- सीधी को मिनी स्मार्ट-सिटी बनाने के लिए 600 करोड़.

- चुरहट में आईटीआई खोलने की घोषणा और 23.16 करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास.

- खरगोन को 745 करोड़ की बिंजलवाड़ा उद्वहन सिंचाई योजना की सौगात.

- बैतूल के घोड़ाडोंगरी में 37 करोड़ की लागत से बने 15 किमी लंबे घोड़ाडोंगरी-बरेठा मार्ग और 65.13      लाख की लागत से थाना बीजादेही का लोकार्पण.

- मुलताई में 285.28 करोड़ की सिंचाई योजनाओं का लोकार्पण और भूमिपूजन.

- बैतूल को 29.11 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात.

- रतलाम में मेडिकल कॉलेज समेत 400 करोड़ के कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन.

- मंदसौर, नीमच, रतलाम में 61 हजार 478 किसानों को प्याज, लहसुन की भावांतर योजना के तहत 243    करोड़ रुपए का भुगतान.

- आगर-मालवा के कुण्डलिया गांव में 4000 करोड़ की लागत से बने कुण्डलिया डेम का लोकार्पण.

- नरसिंहपुर जिले के गाडरवारा में 93 करोड़ 30 लाख और तेन्दूखेड़ा में 36 करोड़ 30 लाख रुपए की लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन.

- राजगढ़ जिले के सारंगपुर में 11 करोड़ के 100 बिस्तरीय सिविल अस्पताल का लोकार्पण.

- शाजापुर जिले को 26 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात

- विदिशा में मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण.

- भोपाल से इंदौर के बीच बनने वाले 6-लेन एक्सेस कंट्रोल ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे को मंजूरी.

- निवाड़ी प्रदेश का 52वां जिला घोषित.