VIDEO: भय्यूजी महाराज की खुदकुशी पर कांग्रेस ने उठाये सवाल, सीबीआई जांच की मांग

भोपाल| देश के जाने मने अाध्यात्मिक संत भय्यू महाराज ने इंदौर स्तिथि अपने निवास में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। भय्यू महाराज इस कदम से सारा देश हैरान है| वहीं उनकी खुदकुशी को लेकर बयानबाजी भी शुरू हो गई है|  कांग्रेस नेता और मप्र मीडिया के प्रभारी माणिक अग्रवाल ने गंभीर आरोप लगाए हैं| उनका कहना है कि मुख्यमंत्री और भाजपा द्वारा उन पर दबाव डाला जा रहा था कि जो सुविधा उन्होंने वापस दे दी है, उनको स्वीकार कर हमारे लिए काम करें, इसके कारण वो तनाव में थे| भय्यूजी की खुदकुशी से जहां सभी हैरान है, वहीं कांग्रेस नेता के बयान से सियासत गरमा गई है| कांग्रेस नेता ने इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है| पुलिस महानिरीक्षक (IG) मकरंद देवस्कर ने कहा कि सुसाइड नोट और पिस्टल जब्त कर ली है। मामले के सभी पहलुओं की जांच की जा रही है। परिवार के सदस्यों से भी पूछताछ की जाएगी। 

दरअसल, राज्य सरकार ने हाल ही में पांच संतों को राज्यमंत्री का दर्जा दिया है, जिसमे भय्यूजी महाराज भी शामिल थे| लेकिन उन्होंने इस सुविधा को लेने से इंकार कर दिया था| उनका कहना था कि मैंने मानवता की सेवा का संकल्प लिया है। उससे बड़ा कोई पद नहीं है। जो पद मन, बुद्धि को स्पर्श न करे उसका कोई अर्थ नहीं है। अब उनके खुदकुशी कर लेने के बाद कांग्रेस ने सवाल उठाये हैं| कांग्रेस के मानक अग्रवाल ने कहा, 'सरकार ने उन पर राज्य मंत्री का पद स्वीकारने और सरकार का समर्थन करने के लिए दबाव डाला था, जिसे उन्होंने स्वीकार नहीं किया। इससे वह मानसिक तनाव में थे। इसकी सीबीआई जांच की जानी चाहिए।' 

सुसाइड नोट में लिखी तनाव की बात 

राजनीति से लेकर फिल्म जगत, सहित लाखों लोग भय्यूजी के भक्त थे| उन्होंने खुदकुशी क्यों की इसको लेकर सभी हैरान है| वहीं भय्यूजी महाराज ने जिस स्थान पर आत्महत्या की वहां पर एक पन्ने का सुसाइड नोट पुलिस को मिला है । उस सुसाइड नोट में उन्होंने अपनी मौत का जिम्मेदार किसी को नहीं ठहराया है। भय्यूजी महाराज  ने सुसाइड नोट में लिखा है कि कई दिनों से घर के तनाव के कारण में परेशान था| दरअसल, उन्होंने सुसाइड नोट अंग्रेजी में लिखा है, जिसमे लिखा है आई एम हैविंग टू मच स्ट्रेस आउट फेड अप। समबडी शुड बी देअर टू हैंडल ड्यूटी ऑफ फैमिली ।


"To get the latest news update download tha app"