किसान पुत्र शिवराज की सरकार में अन्नदाता सबसे ज्यादा दुखी: भूपेंद्र सिंह हुड्डा

भोपाल।

चुनाव से पहले आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेजी से चल रहा है।चौदह सालों से वनवास काट रही कांग्रेस लगातार बीजेपी को घेरने में लगी हुई है।इसी कड़ी में आज हरियाणा  के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने सरकार पर जमकर हमला बोला है और कई गंभीर आरोप लगाए है। हुड्डा ने कहा कि हर आठ घंटे में किसान आत्महत्या कर रहा है। बीते एक साल में 21  हजार किसानों ने आत्महत्या की।वही हुड्डा ने कहा कि मध्यप्रदेश में अपराध भी बढ़े है। महिलाओ और बच्चों पर अपराध के मामले में प्रदेश नम्बर एक पर बना हुआ है।

दरअसल, भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने आज पीसीसी में पत्रकारवार्ता कर शिवराज सरकार पर किसानों को लेकर गंभीर आरोप लगाए। हुड्डा ने कहा कि मध्यप्रदेश में हर जगह बीजेपी की विरोधी हवा चल रही है। हर तरफ बदलाव की बात कही जा रही है, 15 साल की शिवराज सरकार कोई भी अपना वादा पूरा नही किया। प्रदेश का किसान बर्बादी की कगार पर है। अपने आप को किसान का बेटा बोलेने वाले शिवराज की सरकार में सबसे के ज्यादा दुखी है। 

हुड्डा इतने पर भी नही रुके उन्होंने आगे कहा कि मोदी सरकार बनने के बाद पूरे देश मे 4 हजार 637 आंदोलन हुए  है। मध्यप्रदेश में मंदसौर में किसानों में पर गोलियां चलाई जबकि किसानों की मांगें वाजिब थी। 2016-17 में 21 हजार किसान आत्महत्या कर चुके है। हर आठ घंटे में किसान आत्महत्या कर रहे है। MSP भी किसानों को पूरा नही मिल रहा है। अलाहर डाल में भी भाव से कम पैसे मिल रहे है। किसानों ने 1 रुपए किलो लहसुन फेंकी है, जबकि सरकार किसानों की दुगनी आय करने की बात करते है।स्वामीनाथन की रिपोर्ट के अनुसार नुकसान नहीं किया जा रहा है। किसान की लागत बढ़ रही है जबकि आमदनी घटी है, जीएसटी आने के बाद किसानों का और भी बुरा हाल है।