कर्नाटक के 25वें सीएम बने येदियुरप्‍पा, बीजेपी में जश्न, कांग्रेस में विरोध

कर्नाटक।

कर्नाटक के राज्यपाल वजूभाई वाला ने भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री के पद और गोपनीयता की शपथ दिला है। येदियुरप्पा तीसरी बार मुख्यमंत्री बने है ।वे कर्नाटक के 25वें मुख्यमंत्री बन गए हैं।हालांकि अभी तक बहुमत साबित नही हुआ है, इसले लिए येदियुरप्पा सरकार को 15 दिनों के अंदर विधानसभा में विश्वास मत हासिल करना होगा। इसके बाद ही मंत्रिमंडल का विस्तार होगा और उन्हें शपथ दिलाई जाएगी । एक तऱफ जहां भाजपा में खुशी की लहर है , वही दूसरी तरफ कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों ने विधानसभा के बाहर महात्‍मा गांधी की मूर्ति के पास धरना-प्रदर्शन कर अपना विरोध जताया।

दरअसल, राज्यपाल ने बुधवार देर शाम बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया था। येदियुरप्पा को 15 दिन में विधानसभा में बहुमत साबित करने को कहा गया है। बीजेपी राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में 104 सीटें हासिल करके सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। वहीं चुनाव के बाद बने कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन के 116 विधायक हैं। इस गठबंधन ने भी राज्यपाल के पास सरकार बनाने का दावा पेश किया था। राज्यपाल के इस कदम से कांग्रेस भड़क गई और उसने जेडीएस के साथ मिलकर सुप्रीम कोर्ट का रुख किया।जिसके चलते देर रात विशेष तौर से कोर्ट खुलवाया गया। तीन जजों की बेंच में पूरी रात बहस हुई, जिसके बाद सुबह करीब पांच कोर्ट ने कहा कि उनके पास ऐसा कोई संवैधानिक अधिकार नहीं है कि वह राज्यपाल के फैसले पर रोक लगा दें। हालांकि कोर्ट ने बीजेपी से गुरुवार दोपहर दो बजे तक विधायकों की लिस्ट जरूर मांगी है। अगली सुनवाई शुक्रवार सुबह होगी।

शपथ से पहले राहुल ने किया ट्वीट

येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण से ठीक पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्विट किया और लिखा कि भाजपा कर्नाटक में सरकार बनाने को लेकर तर्कहीन आग्रह कर रही है जबकि उसके पास पर्याप्त संख्या नहीं है, यह हमारे संविधान का मजाक बनाना है। इस सुबह जहां भाजपा अपनी खोखली जीत का जश्न मना रही है वहीं भारत लोकतंत्र की हार का शोक मनाएगा।' 

गौरतलब है कि विधानसभा की कुल 224 में से 222 सीटों पर हुए चुनाव में भाजपा को 104, कांग्रेस को 78, सहयोगी बसपा के साथ जदएस को 38 और अन्य को दो सीटें मिली हैं। ऐसे में बहुमत के लिए जरूरी 112 के आंकड़े के सबसे करीब भाजपा ही रही।