मप्र विधानसभा : 15 साल बाद विपक्ष में बैठी भाजपा, नवनिर्वाचित विधायकों ने ली शपथ

भोपाल| पंद्रहवीं विधानसभा का पहला सत्र आज सुबह 11 बजे से शुरू हो गया है। सदन की कार्रवाई वंदेमातरम् के साथ हुई। प्रोटेेम स्पीकर दीपक सक्सेना ने सदन में मौजूद सभी विधायकों को शांति के लिए दो मिनट का मौन रखवाया। इसके बाद स्पीकर ने विधायकों को सदन की सदस्यता की शपथ दिलाना शुरू किया। 15 साल सरकार में रहकर राज करने वाली भारतीय जनता पार्टी के विधायक विपक्ष में बैठे|  

विजय शाह और एनपी प्रजापति में टक्कर 

पंद्रहवी विधानसभा में अध्यक्ष के लिए चुनाव होगा। भाजपा ने सत्र से ठीक पहले अध्यक्ष पद के लिए वरिष्ठ विधायक विजय शाह के नाम का ऐलान कर दिया है। भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने आज सुबह कहा कि विधानसभा अध्यक्ष के लिए पार्टी प्रत्याशी उतारेगी। इधर कांग्रेस के स्पीकर पद के प्रत्याशी एनपी प्रजापति ने सत्र शुरू होने से पहले विधानसभा अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए निर्वाचन अधिकारी एपी सिंह को नामांकन जमा कर दिया है। इस दौरान मुख्यमंत्री कमलनाथ, मंत्री गोविंद सिंह भी मौजूद रहे। स्पीकर के लिए 8 जनवरी को चुनाव होगा। जिसमें दोनों दलों के विधायक मतदान करेंगे। हालांक कांग्रेस ने 121 विधायक होने का दावा किया है। वहीं भाजपा ने तीन दिन तक मंथन के बाद स्पीकर का चुनाव लडऩे का फैसला किया है। बीजेपी के विधायक विजय शाह ने अपना नामांकन भर दिया है| स्पीकर पद के लिए उन्होंने प्रमुख सचिव के सामने नामांकन भरा है| इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और नरोत्तम मिश्रा सहित कई बीजेपी के नेता मौजूद थे|


मंत्रालय के सामने भाजपा का वंदे मातरम्, फिर पहुंचे विधानसभा 

भाजपा जनता पार्टी के विधायकों ने विधानसभा पहुंचने से पहले मंत्रालय के सामने स्थित बल्लभ उद्यान में वंदे मारतम का गायन किया। जिसमें भाजपा के सभी मौजूदा विधायक मौजूद रहे। साथ ही सांसद एवं पार्टी पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया। वंदे मातरम् गायन में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, विधायक नरोत्तम मिश्रा, गोपाल भार्गव, अरविंद भदौरिया, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह, सांसद नंदकुमार चौहान, आलोक संजर, ज्ञान सिंह समेत सैकड़ों पार्टी नेता एवं पदाधिकारी मौजूद रहे। 

10 जनवरी को पेश होगा अनुपूरक बजट

विधानसभा के शीतकालीन सत्र में पांच बैठकें होना प्रस्तावित है। अध्यक्ष के चुनाव के बाद कल यानी मंगलवार को राज्यपाल का अभिभाषण होगा। विधायकों के शपथ लेने की प्रक्रिया मंगलवार तक चल सकती है। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष पद का चुनाव होगा और फिर राज्यपाल का अभिभाषण होगा। विधानसभा में 10 जनवरी को 18000 करोड़ रुपए का अनुपूरक बजट पेश किया जाएगा, जिस पर उसी दिन चर्चा होगी। 90 विधायक पहली बार सत्र में शामिल होंगे।



"To get the latest news update download the app"