शिवराज ने चुनाव आयोग पर लगाये अमानवीयता के आरोप

भोपाल। चुनाव परिणाम से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कैबिनेट की बैठक बुलाई| जिसमे सभी मंत्रियों को दो दिन पहले दूरभाष के जरिए बैठक की सूचना दी गई थी। बैठक में हुई चर्चा की जानकारी देते हुए सरकार के प्रवक्ता नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि बैठक में कोई नीतिगत फैसले नहीं लिए गए, ज्यादातर मामले अनुसमर्थन के थे। महिलाओ को पचास फीसदी, संविदाकर्मियों को 20 फीसदी आरक्षण का अनुसमर्थन, दिव्यांगों को 54 वर्ष आयु तक शासकीय सेवा का अनुसमर्थन, पुजारियो को संबल योजना का अनुसमर्थन किया गया| खाद आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए । कृषि मंत्री को दिल्ली जाकर केन्द्रीय मंत्री से बात करने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि प्याज, लहुसन की खरीदी सुनिश्चित हो| 

कैबिनेट बैठक पर कांग्रेस की आपत्ति पर मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कांग्रेस मतदान के दिन से ही अनर्गल प्रलाप कर रही है, हार के डर से बोखला गयी है| इव्हीएम मे गड़बड़ी का अभियान छेड़ दिया| कांग्रेस हार के डर से आयोग की निष्पक्षता पर सवाल उठा रही है| सब पर बेईमानी का आरोप लगा रही, संदेह का वातावरण पैदा कर रही है| सीएम शिवराज ने चुनाव आयोग पर अमानवीयता के आरोप भी लगाए हैं| उन्होंने कहा अधिकारियो और चुनाव आयोग ने भाजपा पर ज्यादा सख्ती की है। अमानवीयता की है, मुझे साथी के अंतिम संस्कार मे नही जाने दिया |  रघुवीर दान्गी के अंतिम संस्कार मे विदिशा नही जाने दिया गया|  चुनाव आयोग ने अगर किसी के साथ सख्ती की तो वो बीजेपी के साथ की है, लेकिन मेने शिकायत नहीं की है|

उन्होंने कहा कांग्रेस प्रशासन पर दबाब डालने का प्रयास कर रही है|  इव्हीएम मे छेड़छाड़ कोई गुड्डे गुड़ियों का खेल नही है| जो प्रत्याशी नही है वो भी स्ट्रांग रूम में जा रहे है | कांग्रेस हार की पूर्व भूमिका तैयार कर रही है| हम आचार सहिंता के नाम पर जनता को ऐसे ही नही छोड़ सकते, आज हमने जनता से जुड़े मामलों की समिक्षा की , मगर कांग्रेस आरोप लगा रही है| वाटसएप पर कांग्रेसी कुछ भी लिख रहे है| सीएम ने कहा बीजेपी शानदार बहुमत प्राप्त करेगी| 


"To get the latest news update download the app"