कमलनाथ ने लगाई सेंध, शिवराज के साले संजय मसानी कांग्रेस में शामिल

नई दिल्ली/भोपाल। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव की रणभेरी बजने के बाद से ही चुनावी दंगल शूरू हो गया है। बीजेपी ने कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में सेंध लगाई तो कांग्रेस ने भी बीजेपी को बड़ा झटका देने की तैयारी कर ली है। शनिवार को दिल्ली में एमपी प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ की मौजूदगी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंज चौहान के साले और साधना सिंह के भाई  संजय सिंह मसानी ने कांग्रेस का दामन थाम लिया। संजय सिंह कई बार पहले भी सुर्खियों में आ चुके हैं। वो गोंदिया, महाराष्ट्र के रहने वाले हैं। इस मौके पर संजय ने कहा कि भाजपा को 14 साल हो गए है, ये बहुत है अब प्रदेश को शिवराज की नही कमलनाथ यानि नाथ की जरुरत है। प्रदेश में कामदारों को अलग और नामदारों को आगे बढ़ाया जा रहा है। उम्मीद है कमलनाथ जी ने जैसे छिंदवाड़ा का विकास मॉडल दिया उसी तरह वे मध्यप्रदेश में विकास को आगे  बढ़ाएगं।

कांग्रेस में शामिल होते ही उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी में संगठन कार्यकर्ताओं को मौका नहीं दिया जा रहा है। प्रदेश में अब नाथ की जरूरत है।  प्रदेश में कामदारों को अलग और नामदारों को आगे बढ़ाया जा रहा है। उम्मीद है कमलनाथ जी ने जैसे छिंदवाड़ा का विकास मॉडल दिया उसी तरह वे मध्यप्रदेश में विकास को आगे  बढ़ाएगा| 

बता दें कि  संजय सिंह मसानी बालाघाट की वारासिवनी सीट पर रुचि दिखाई है। वो इस सीट पर एक्टिव भी हुए और जनता के बीच भी गए हैं। मध्यप्रदेश में कमलनाथ के बाद संजय सिंह ही हैं जो मूलत: कारोबारी हैं और राजनीति भी करना चाहते हैं। संजय सिंह की बॉलीवुड में अच्छी पकड़ है। देश के कई उद्योगपति घरानों से संजय सिंह के अच्छे संबंध हैं।