कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं यह भाजपा विधायक, बीजेपी से टिकट कटना तय

भोपाल/भिंड। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा ने अब तक 192 उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। 30 मौजूदा विधायकों के टिकट काट दिए गए हैं। तीसरी लिस्ट कभी भी जारी हो सकती है। लेकिन उससे पहले बड़ी खबर मिल रही है कि बीजेपी के भिंड विधायक कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं। बीजेपी से उनका टिकट कटना लगभग तय माना जा रहा है। इस बार भाजपा को जिस तरीके से लगातार झटके लग रहे है उससे पार्टी के अंदर हलचल मची हुई है, ऐसे में नाराज भाजपा नेताओ को मनाने का भी काम किया जा रहा है, लेकिन इसके बाद भी वह किसी भी कीमत पर मानने के लिए तैयार नहीं है।

इस झटके को देने की पूरी तैयारी हो चुकी है ओर सिर्फ सिंधिया की हरी झंडी मिलने का इंतजार है। झटका देने के लिए ही कांग्रेस ने अभी तक भिण्ड एवं ग्वालियर दक्षिण विधानसभा के साथ ही गोहद का टिकट रोक रखा है। भिंड से लगातार दो बार से विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह का भी टिकट कटने की उम्मीद है। इस बात के संकेत उन्हें भी मिल चुके हैं। यही कारण है कि वह कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं। दरअसल, भाजपा वहां से कांग्रेस से आएं चौधरी राकेश सिंह को मैदान में उतारना चाहती है। इस बात की भनक कुशवाह को लग गई है। वह राजधानी भोपाल में भी बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के सामने विरोध दर्ज करा चुके हैं। इस सीट से कुशवाह और राकेश सिंह एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ चुके हैं। दोनों एक दूसरे के धुर विरोधी बताए जाते हैं। 

कांग्रेस भी कुछ इसी का इंतजार कर रही है इसलिए भिण्ड से कोई प्रत्याशी घोषित नहीं किया है। भाजपा भी उक्त सीट से प्रत्याशी घोषित करने में देरी एक रणनीति के तहत कर रही है, लेकिन इस रणनीति को विधायक नरेन्द्र सिंह कुशवाह ने भांप लिया है। यही कारण है कि उन्होंने कांग्रेस नेताओं से संपर्क करने का काम किया और अपने लिए रास्ता निकालने की बात कही।

सिंधिया से किया संपर्क

कुशवाह बीजेपी की चाल समझ गए हैं। टिकट बंटवारे में हो रही देरी से उनके सब्र का बांध भी टूट रहा है। लिहाजा अटेर से कांग्रेस विधायक हेमंत कटारे ने इस मामले को लेकर सिंधिया से बात की है। सिंधिया की ओर से अभी कोई पुख्ता जवाब तो नहीं मिला है लेकिन अटकलें है कि दिल्ली में कुशवाह के नाम पर कांग्रेस मुहर लगा सकती है। इस रह कांग्रेस एक तीर से दो निशाने लगाने की कोशिश करेगी। एक तो कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए राकेश सिंह का बदला भी पूरा हो जाएगा दूसरा कांग्रेस को इस सीट पर ज्यादा महनत नहीं करना पड़ेगी। कुशवाह दो बार से विधायक हैं अगर कांग्रेस उन्हें टिकट देती है तो यहां जीत की प्रबल संभावना है। 

इसी तरह ग्वालियर दक्षिण से भी कांग्रेस भाजपा नेत्री पर दांव लगाने की तैयारी कर रही है, क्योकि भाजपा नेत्री कांग्रेस में आने के लिए गंभीर प्रयास कर रही है। इस भाजपा नेत्री की एंट्री को लेकर एक बात बाहर आ रही है कि दक्षिण से रश्मि पवार शर्मा को नाम आगे चल रहा था, अब रश्मि को कैसे रोका जाएं इसको लेकर भाजपा की महिला नेत्री को कांग्रेस के कुछ नेता आगे कर रहे है। राजनीतिक सूत्र का कहना है कि दीपावली वाले दिन भाजपा को झटका मिल सकता है।