Breaking News
अध्यापकों के तबादलों से रोक हटी, आदेश जारी | राहुल गांधी की सभा की अनुमति को लेकर बैकफुट पर प्रशासन, बदली शर्ते | किसान और जनता के घरो में डाका डाल रही सरकार : अजय सिंह | शराब दुकानों को लेकर आमने-सामने हुए दो विभाग | सहकारी बैंक का जीएम 50 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों धराया | कम नहीं होगा पेट्रोल-डीजल पर वैट : वित्तमंत्री मलैया | VIDEO : मप्र कोटवार संघ की सरकार को चेतावनी- मांगे पूरी नहीं हुई तो कांग्रेस को देंगें समर्थन | VIDEO : बाप को जेल ले जा रही थी पुलिस, बेटियों ने जीप पर चढ़कर किया जमकर हंगामा | एमपी टूरिज्म के रिसॉर्ट में तेंदुए का टेरर..देखिये वीडियो | तख्तियों पर 'देखों ये मोदी का खेल, 82 रु हो गया तेल' स्लोगन लिख कांग्रेस ने जताया विरोध |

अब स्कूलों में 'यस सर' नहीं 'जय हिंद' बोलेंगे विद्यार्थी, जारी हुए आदेश

भोपाल| मध्य प्रदेश के सरकारी स्कूलों में छात्र 'यस सर-यस मेम' की जगह अब 'जय हिन्द' बोलेंगे|  राज्य शासन ने मंगलवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने करीब आठ महीने पहले यह घोषणा की थी। निजी स्कूलों में जय हिंद बोलने की बाध्यता नहीं है। 

शासन ने आदेश में कहा है कि विद्यार्थियों में देशभक्ति की भावना जागृत करने के लिए यह निर्णय लिया गया है। शासन का कहना है कि अभी स्कूलों में हाजिरी के लिए अलग-अलग शब्द बोले जाते हैं। अब सब जय हिंद ही बोलेंगे। निजी स्कूलों को लेकर असमंजस: जय हिंद सिर्फ सरकारी स्कूलों में बोला जाएगा या निजी स्कूलों में भी। इसे लेकर असमंजस है। दरअसल, शासन ने आदेश में यह स्पष्ट नहीं किया है। सूत्र बताते हैं कि विभाग के मंत्री शाह चाहते हैं कि प्रदेश के सभी (सरकारी एवं निजी) स्कूलों में जय हिंद ही बोला जाए। 

निजी स्कूल खुद करेंगे निर्णय

जारी आदेश में निजी स्कूलों को जय हिंद बोलने की बाध्यता से मुक्त रखा है। आदेश में यह स्पष्ट भी नहीं है। हालांकि सितंबर 2017 में जब शिक्षा मंत्री विजय शाह ने हाजिरी में जय हिंद बोलने की पहल शुरू की थी, तभी यह स्पष्ट कर दिया था कि निजी स्कूल जय हिंद को लेकर खुद फैसला करने के लिए स्वतंत्र होंगे। आदेश में भी यह स्पष्ट नहीं है। 

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...