कैलाश के बेटे के लिए बीजेपी विधायक सीट छोड़ने को तैयार

इंदौर। मध्यप्रदेश की सियासत में इस बार टिकट बंटवारे पर पूरी कहानी अटक गई है। बीजेपी में इंदौर की सीटों को लेकर पेंच फंसा है। यहां इंदौर-2 विधानसभा पर कैलाश विजयवर्गीय अपने बेटे के लिए टिकट की मांग कर रहे हैं। विजयवर्गीय ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि इंदौर दो विधानसभा सीट से वर्तमान विधायक रमेश मेंदोला अपनी सीट छोड़ने को तैयार हैं। उन्होंने यह भी कहा कि आज बीजेपी की तीसरी लिस्ट जारी हो सकती है। 

आकाश के दो नंबर से लड़ने पर दो नंबर से वर्तमान विधायक रमेश मेंदोला को इंदौर तीन से टिकट दिलाने का प्रयास कैलाश कर रहे हैं। इंदौर तीन में ताई का होल्ड है और ताई ने यहां से मंदार के लिए टिकट मांगा है। अब यदि रमेश मेंदोला को इंदौर-तीन से टिकट दिया जाता है तो ताई को राऊ विधानसभा दी जा सकती है, वे यहां से जिसे चाहे टिकट दिलवा दें। वहीं चार नंबर में वर्तमान विधायक मालिनी गौड़ का नाम ऊपर है। बताया जाता है लोकसभा स्पीकर द्वारा यहां से भी अंजू माखीजा का नाम दिए जाने से यह सीट भी चर्चा में आ गई है। 

कांग्रेस ने बोला हमला

कांंग्रेस प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी दूसरों पर परिवारवाद का आरोप लगाती थी। अब सीएम शिवराज सिंह चौहान को इस पर सफाई देना चाहिए की यह परिवार वाद नहीं है तो क्या है। पार्टी के वरिष्ठ नेता अपने बच्चों के लिए टिकट की मांग पर अड़े हैं। कांग्रेस में परिवारवाद के सवाल पर कहा कि हमारे यहां परिवारवाद नहीं है। पार्टी के लिए जो लंबे समय से काम कर रहे हैं उसे टिकट दिया गया है। 

बीजेपी ने भी किया पलटवार

बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा कि बीजेपी में कोई भी टिकट के लिए परेशान नहीं है। पारिवारवाद और वंशवाद कांग्रेस में है। कांग्रेस ने ही वंशवाद को जन्म दिया है।