हंगामे के बीच अनुपूरक बजट पास, विधानसभा अनिश्चित काल तक के लिए स्थगित

भोपाल| विधानसभा में शीतकालीन सत्र का आज चौथा दिन है| सदन की कार्रवाई शुरू होते ही पक्ष और विपक्ष में तीखी नोंकझोंक हुई|  जिस तरह स्पीकर चयन के दौरान सदन में हंगामा हुआ था| ठीक वैसी ही सिथि गुरूवार को भी देखने को मिल रही है| उपाध्यक्ष पद को लेकर पक्ष विपक्ष के बीच तीखी बहस हो रही है| विधानसभा अध्यक्ष को हस्तक्षेप करना पड़ा, स्पीकर ने कहा कि नए सदस्यों को पुराने सदस्यो को देखकर एक्शन न करे| अध्यक्ष ने मंत्रियों को भी चेताया| हंगामे के बीच विधनसभा अध्यक्ष ने उपाध्यक्ष के पद पर हिना कांवरे को निर्वाचन करने की घोषणा की। विपक्ष के भारी हंगामें के बीच हिना कांवरे विधानसभा उपाध्यक्ष बनी| वहीं विपक्ष ने विधानसभा अध्यक्ष पर पक्षपात के आरोप लगाते हुए उपाध्यक्ष चयन प्रक्रिया को अलोकतांत्रिक बताया और जमकर नारेबाजी की जा रही है| 

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विधान सभा मे कार्यवाही शुरू होते ही सवर्णों को 10% आरक्षण देने पर पीएम नरेंद्र मोदी को बधाई दी और इस फैसले को ऐतिहासिक फैसला बताया| वहीं विपक्ष के सदस्यों ने कहा यह चुनावी फैसला है करना था तो महिला आरक्षण बिल भी पास करते| इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष ने उपाध्यक्ष पद का प्रस्ताव पड़ा| उपाध्यक्ष चयन की प्रक्रिया शुरू हुई|  4 सूचना हिना कांवरे के लिए आई और 5 वी सूचना गोपाल भार्गव ने दी और समर्थन सीताशरण शर्मा ने किया है| इस दौरान पक्ष विपक्ष में बहस हुई| सदन मैं विपक्ष ने हंगामा किया और गुप्त मतदान की मांग की, हंगामा करते हुए विपक्ष के विधायक आसंदी के पास इकट्ठे हो गए और नारेबाजी करने लगे| विपक्ष ने विधानसभा अध्यक्ष पर पक्षपात करने का आरोप लगाया| हिना कांवरे का नाम अकेले पढे जाने पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सीता शरण शर्मा ने आपत्ति जताई | आंसदी  ने कहा कि नियम प्रक्रिया से बढ चुके है आगे अब नही हट सकते पीछे| विपक्ष ने गर्भ गृह में पहुंचकर जमकर की नारेबाजी और  तानाशाही नहीं चलेगी के नारे लगाए| भारी हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही10 मिनट के लिए स्थगित की गई|  सदन में जमकर हंगामा के बीच नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने विधानसभा अध्यक्ष पर पक्षपात करने का आरोप लगाया | उन्होंने .कहा कि  विधानसभा अध्यक्ष ने विपक्ष की आवाज दबाने का काम किया है|  पूर्व सीएम और विधायक शिवराज सिंह चौहान ने भी सदन में कहा कि पहले दिन से ही विपक्ष को नजरअंदाज किया जा रहा है| 

स्पीकर के बाद डिप्टी स्पीकर का पद भी भाजपा के हाथ से गया 

अध्यक्ष के बाद उपाध्यक्ष चयन को लेकर पहले से ही हंगामे की संभावना थी| मंगलवार को हुए विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में जो पैटर्न प्रोटम स्पीकर ने अपनाया था, उसे ही विधानसभा अध्यक्ष ने उपाध्यक्ष चुनाव में आगे बढ़ाया। कांग्रेस की ओर से हिना कांवरे के पक्ष में पहले चार प्रस्ताव दिए गए। भाजपा के जगदीश देवड़ा के पक्ष में प्रस्ताव पांचवां था। विधानसभा अध्यक्ष ने पहले आए प्रस्ताव को पास करते हुए हिना कांवरे को उपाध्यक्ष घोषित किया। अध्यक्ष द्वारा घोषणा करते हुए विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया, इस कारण सदन की कार्यवाही कुछ देर के लिए रोकनी पड़ी। इसके बाद भी विपक्ष का हंगामा जारी रहा और विपक्ष ने विधानसभा अध्यक्ष पर पक्षपात के आरोप लगाते हुए निर्वाचन को अलोकतांत्रिक बताया| इसी के साथ में भाजपा के हाथ से स्पीकर और डिप्टी स्पीकर दोनों पद चले गए| कांग्रेस विधायक एनपी प्रजापति अध्यक्ष और हिना कावरे उपाध्यक्ष बनी हैं| 


#LIVE UPDATES

"To get the latest news update download the app"