सिवनी जिले में जादू टोने के शक में पिता-पुत्र को पेशाब पिलाई, एसपी ने की 33 लोगों पर कार्रवाई

सिवनी| अन्धविश्वास को बढ़ावा देने वाले लोगों का कहर मध्य प्रदेश के गरीब परिवार पर ऐसा टूटा कि मानवता की सारी हदें पार कर दी गईं| प्रदेश के सिवनी जिले में पिता-पुत्र को जादू टोने के शक में जूतों भरकर पेशाब पिला दी गई| मामला प्रकाश में आने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. एसपी के निर्देश पर गांव के 33 लोगों के विरुद्ध प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई है| \r\n\r\nदरअसल, धनोरा थाने के घोघरी खुर्द गांव निवासी गना राम उइके और उसके बेटे कोमल सिंह ने आरोप लगाया है कि गांव वाले उन पर जादू-टोना करने का शक करते हैं. इसी को लेकर 26 अगस्त के दिन गांव के खैरमाई मन्दिर के परिसर में बैठक बुलाई गई थी|\r\nजहां पर पिता-पुत्र पर काला जादू करने का आरोप लगाते हुए उन्हें सबके सामने पीटा गया. इतना ही नहीं वहीं पर मौजूद कुछ लोगों ने उन्हें जूतों में पेशाब भरकर भी पिलाई| घटना के बाद आरोपी पुलिस में शिकायत न करने के लिए पीड़ितों को धमकाया गया. उन्होंने गना राम और कोमल सिंह को जान से मारने की धमकी भी दी थी| \r\nहालांकि, पीड़ित पिता-पुत्र ने हिम्मत करते हुए अब धनोरा थाने में शिकायत दर्ज करवाई है. अब धनोरा थाना पुलिस ने प्रकरण को गंभीरता से लेते गांव के 33 लोगों के खिलाफ धारा 107/116 के तहत प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की है| \r\nप्रदेश में दबंगों के राज के चलते गरीब और दलित परिवार पिस्ता नजर आ रहा है, जहा देश को आजादी मिले 70 साल हो गए हैं, लेकिन प्रदेश में अब भी ग्रामीण क्षेत्रों में दबंगों का राज इस कदर हावी है कि कोई क़ानून इन पर बंदिशे लगाने में नाकाम साबित हो रहे हैं| आये दिन प्रदेश में ग्रामीण क्षेत्रों में मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आने के प्रदेश की सरकार और प्रशासन की कार्यशैली पर सवाल उठ रहा है| वहीं लोगों में मानवता का इस कदर क़त्ल होना भी समाज के लिए एक गंभीर प्रश्न बनता जा रहा है|

"To get the latest news update download the app"