भोपाल के ग्रामीण क्षेत्रों में अब नहीं खुलेगा कत्लखाना, जिला पंचायत ने किया प्रस्ताव पारित

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में स्थित कत्लखाना को शहरी क्षेत्र से हटाकर ग्रामीण क्षेत्र में करने पर रोक लगाने के लिए आज जिला पंचायत की साधारण सभा की बैठक में संकल्प पारित किया गया | इसमें कहा गया की ग्रामीण क्षेत्र में कोई भी कत्लखाना नहीं खोलने दिया जाएगा और जो भी सरपंच इसके लिए सहमति देगा उसका बहिष्कार किया जाएगा।\r\n\r\nजिला पंचायत की आज साधारण सभा की बैठक हुई जिसमें जिला पंचायत अध्यक्ष मनमोहन नागर ने अध्यक्षता की। जिला पंचायत में एक संकल्प लाया गया जिसमें यह प्रस्ताव पेश किया गया कि ग्रामीण क्षेत्र में कोई भी कत्लखाना नहीं खोलने दिया जाएगा। इस संकल्प को जिला पंचायत के सभी सदस्यों ने एकस्वर में पारित कर दिया। साथ ही सदस्यों ने यह भी फैसला किया कि अगर किसी ग्राम पंचायत में कत्लखाने पर सहमति दी जाती है तो फिर ग्रामीण क्षेत्र में उसका बहिष्कार किया जाएगा।\r\n\r\nगौरतलब है कि भोपाल शहर के कत्लखाने को शिफ्ट करने की योजना चल रही है जिसके लिए अभी तक तीन स्थानों के विचार हो चुके हैं। हालांकि इन क्षेत्रों पर स्थानीय लोगों के विरोध के कारण कोई अंतिम फैसला नहीं हो सका है। हुजूर विधानसभा क्षेत्र के विधायक रामेश्वर शर्मा भी ग्रामीण क्षेत्र में कत्लखाना खोले जाने के विरोध के समर्थन हैं।

"To get the latest news update download the app"