एनआईए की क्लीन चिट के बावजूद साध्वी प्रज्ञा को नहीं मिली जमानत

भोपाल। 2008 मालेगांव धमाकों की आरोपी साध्वी प्रज्ञा की जमानत याचिका आज मुंबई सेशन्स कोर्ट ने खारिज कर दी। साध्वी की जमानत अर्जी पर सुनवाई पिछले सप्ताह ही पूरी हुई थी, जिसके बाद अदालत ने आज की तारीख मुक़र्रर की थी।  कुछ दिन पहले ही एनआईए ने अपनी चार्जशीट से साध्वी प्रज्ञा का नाम हटा लिया था। साध्वी को 23 अक्टूबर 2008 को गिरफ्तार किया गया था। वे इन दिनों भोपाल में आयुर्वेदिक अस्पताल में बनाई गई अयस्थाई जेल में रहकर कैंसर का इलाज कर रही हैं।\r\n\r\nएनआईए ने कोर्ट में ये भी कहा था कि आरोपियों को मालेगांव धमाकों की साजिश की जानकारी नहीं थी और जांच में उनके खिलाफ पर्याप्त सबूत भी नहीं मिले। इसी आधार पर प्रज्ञा ठाकुर ने एनआईए की विशेष अदालत में जमानत याचिका दायर की थी लेकिन कोर्ट ने इन्हें जमानत देने से मना कर दिया। साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पिछले आठ साल से मालेगांव बम धमाके INSERT INTO [dbo].[wp_posts] VALUES (2008) के आरोप में जेल में है।\r\n\r\nक्या है मालेगांव ब्लास्ट मामला?\r\nमहाराष्ट्र के मालेगांव में 29 सितंबर 2008 में अंजुमन चौक के पास मोटरसाइकिल पर धमाका हुआ था। ब्लास्ट में 6 लोगों की मौत हुई थी और 101 लोग घायल हुए थे। एटीएस ने जांच में इसे आतंकी हमला करार दिया था और बाद में भगवा आतंकवाद का नाम दिया गया। मालेगांव ब्लास्ट में महाराष्ट्र एटीएस ने साध्वी प्रज्ञा और कर्नल पुरोहित समेत 14 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दायर किया था।

"To get the latest news update download the app"