VIDEO : प्लेटफार्म और गाड़ी के बीच फंसी जिंदगी, कॉन्स्टेबल की सूझ-बूझ से बची जान

रतलाम। रेल गाड़ी से उतरते-चढ़ते वक्त अक्सर हादसे हो जाया करते हैं।जिसका खमियाजा उस व्यक्ति को भुगतना पड़ता हैं जिसे समय से पहले निर्धारित स्थान पर पहुंचने की जल्दी होती हैं।एक ऐसा ही मामला रतलाम के रेल्वे स्टेशन का सामने आया हैं।

ये है पूरा मामला

दरअसल, चलती गाड़ी से उतरने की कोशिश में पैर फिलकर ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच जा गिरे यात्री को रात आरपीएफ जवान गोपाल बोरीवाल ने सतर्कता बरतते हुए सही समय पर खींच निकाला। इससे उसकी जान बच गई।

घटना सोमवार रात 11.35 बजे प्लेटफार्म नंबर पांच से रवाना हो रही 19023 फिरोजपुर-जनता एक्सप्रेस की है। मुकीम भाई नाम के यात्री को 12917 गुजरात संपर्क क्रांति से जाना था, लेकिन जल्दबाजी में जनता एक्सप्रेस में चढ़ गए। अंदर पहुंचने पर जब तक यात्रियों से पता चला तब तक ट्रेन प्लेटफार्म से छूट चुकी थी। हडबड़ाहट में मुकीम भाई चलती ट्रेन से उतर गए।

आरपीएफ कांस्टेबल ने बचाई जान

जब मुकीम भाई ट्रेन से उतर रहे थे तभी उनका पैर फिसला, जिससे वे ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच घसीटने लगे। कुछ ही दूरी पर ड्यूटी कर रहे आरपीएफ कांस्टेबल गोपाल ने जैसे ही यह नजारा देखा मुकीम को बचाने दौड़ गए। गोपाल ने चलती ट्रेन के साथ घसीट रहे मुकीम को पकड़ कर खींच लिया। अन्य यात्रियों ने भी सहायता की।

 अस्पताल में कराया भर्ती

इस पूरे घटनाक्रम में यात्री मुकीम भाई को मामूली खरोंच ही आई।हालांकि कांस्टेबल को भी हल्का धक्का लगा पर कोई चोट नहीं आई।इसके बाद मुकीम को इलाज के लिए जिला अस्पताल भिजवाया गया।इस बीच काफी लोगों की भीड़ जमा हो गई।जिसके बाद में हटाया गया।

क्यों होते है हादसे

अक्सर रेल्वे स्टेशन पर इस तरह के हादसे हो जाया करते हैं। दरअसल इस प्रकार के हादसे गाड़ी और प्लेटफार्म के बीच गैप के कारण होते हैं।हम हमेशा देखते हैं कि जब गाड़ी प्लेटफार्म पर आती हैं तो स्टेशन का जो प्लेटफार्म होता हैं औऱ गाड़ी जब प्लेटफार्म पर खड़ी होती हैं तो उसके बीच गैप रहता हैं।जब यात्री ट्रेन में चढ़ता हैं तो या तो उसकी चप्पल गिर जाती हैं या कुछ औऱ सामान।इसके अलावा जब वो ट्रेन से उतरता हैं तो उसका पैर प्लेटफार्म पर ना पड़कर हवा में रखा जाता हैं जिससे वो सही तरीके से उतर नहीं पाता औऱ हादसे हो जाया करते हैं।

होती हैं यात्रीयों की भी गलती

ऐसा नहीं हैं कि इसमें रेल्वे या प्लेटफार्म वालों की गलती होती हैं ।इसमें यात्रीयों की भी उतनी ही गलती हैं जितनी कि उनकी। यात्री हमेशा ट्रेन में चढ़ने की गलती करता हैं या हमेशा उतरने की जल्दी। जिसके कारण इस प्रकार के हादसे हो जाया करते हैं।जिसका खमियाजा यात्री के साथ साथ रेल्वे प्रशासन को भी भुगतना पड़ता हैं।


"To get the latest news update download the app"