Breaking News
व्यापमं का जिन्न फिर बाहर: दिग्विजय ने शिवराज, उमा समेत 18 के खिलाफ किया परिवाद दायर | चुनाव लड़ने का इंतजार कर रहे बीजेपी के 70 विधायकों में मचा हड़कंप! | अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित |

पूर्व जिलाध्यक्ष की सोशल मीडिया पोस्ट से मचा बवाल, भाजपा ने दिया पार्टी में शामिल होने का ऑफर

होशंगाबाद।

मध्यप्रदेश कांग्रेस द्वारा कपिल फौजदार को होशंगाबाद का जिलाध्यक्ष बना दिया गया है।फौजदार के जिलाध्यक्ष बनने से राजनैतिक हलचल तेज हो गई है। बगावती सुर फुटने लगे है।फौजदार को जिलाध्यक्ष बनाए जाने को लेकर पूर्व जिलाध्यक्ष पुष्पराज पटेल ने नाराजगी जाहिर की है और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पर निशाना साधा है।उन्होंने प्रदेश प्रभारी दीपर बाबरिया को सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखी है। इस पोस्ट के बाद से ही  जिला कांग्रेस में कलह उजागर हुई है।वही दूसरी और पटेल के पोस्ट के बाद भाजपा नेताओं द्वारा उन्हें बीजेपी में शामिल होने के लिए खुला ऑफर दिया जा रहा है।

बता दे कि ।नव नियुक्त बैतूल कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुनील शर्मा और होशंगाबाद मप्र किक्रेट एसोसिएशन के उपाध्यक्ष कपिल फौजदार कमलनाथ, पूर्व सांसद रामेश्वर नीखरा, और पूर्व मंत्री दीपक सक्सेना के करीबी माने जाते हैं।

दरअसल, प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ  विस चुनाव से पहले कमलनाथ नर्मदांचल में कांग्रेस की पकड़ मजबूत करने में लगे हुए है, जिसके चलते 1986 से 1990 तक युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष रहे कपिल फौजदार को मंगलवार को कांग्रेस जिलाध्यक्ष की कमान सौंपी गई है।लेकिन फौजदार को कमान सौंपते ही कांग्रेस में अंतरकलह देखने को मिल रही है। पूर्व जिलाध्यक्ष पुष्पराज पटेल ने फौजदार को जिलाध्यक्ष बनाए जाने को लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर बड़ा हमला बोला है। पटेल ने सोशल मीडिया के माध्यम से प्रदेश प्रभारी दीपर बावरिया को एक पोस्ट भेजी है , जिसमें उन्होंने लिखा है कि मैं समझौतावादी आदमी नहीं हूँ ।29 साल से चुनाव हार रहे रामेश्वर नीखरा के कहने पर मुझे हटाया गया है , इसका कारण बताएं।  पुष्पराज ने यह भी उजागर किया कि सविता दीवान को 15 वोट से कलेक्टर तिर्की ने जिताया जो अगले चुनाव में 27 हजार वोट से हार गईं इनके कहने पर मुझे हटाया गया । पुष्पराज ने दोनों नेताओं को खुली चुनौती देते हुए कहा है कि आगामी चुनाव में जिले के चारों विधानसभा क्षेत्र जीतकर बताएं।इस पोस्ट के बाद कांग्रेस नेताओं में हड़कंप मच गया है।वही पुष्पराज पटेल से नेतृत्व छिनने पर सोशल मीडिया पर भाजपाई उन्हें भाजपा में शामिल होने की सलाह दे रहे हैं। 

कौन है कपिल फौजदार

-1977में विवि के प्रतिनिधि के तौर पर राजनैतिक जीवन की शुरुआत।

-1986 से 1990 तक युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष रहे।

-1990 से 2004 तक जिला महामंत्री।

- 2006 में कोषाध्यक्ष, कांग्रेस उपाध्यक्ष

-एक साल प्रदेश कांग्रेस सचिव । 


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...